बलिया. नगरा बाजार में मंगलवार को देर शाम पुलिस की मौजूदगी में दिल्ली से आई स्पार्की कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने पांच रेडीमेड कपड़ों दुकानों पर छापेमारी की. इससे कुछ समय के लिए बाजार में भगदड़ की स्थिति बनी रही. कुछ दुकानदार तो अपनी दुकानों पर ताला जड़ दिया और चलते बने.

इस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने भारी मात्रा में स्पार्की कंपनी के नकली जींस को कब्जे में लिया। कंपनी के क्वालिटी इंस्पेक्टर सुभाषचंद की तहरीर पर पुलिस ने बाजार के नेहा रेडीमेड, आंचल साड़ी सेंटर, इद्रीसी साड़ी सेंटर, गुप्ता वस्त्रालय, धमाका जींस कार्नर के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है. तहरीर में कहा गया है कि कस्बा नगरा में स्पार्की कंपनी के नकली प्रोडक्ट बेच कर जनता को गुमराह कर धोखाधड़ी की जा रही है.

व्यापार मंडल ने कहा दुकानदारों का उत्पीड़न हुआ, मुकदमें वापस हों

पूर्वांचल उद्योग व्यापार मंडल नगरा के पदाधिकारियों ने एक बैठक कर कस्बे के पांच दुकानों में मंगलवार को हुई छापेमारी की घटना की कडे शब्दों में निंदा की है. ब्लॉक अध्यक्ष राजीव सिंह चंदेल व मीडिया प्रभारी जयप्रकाश जायसवाल ने कहा कि छापेमारी के नाम पर स्पार्की कंपनी के अधिकारियों ने दुकानदारों का उत्पीड़न किया है साथ ही बगैर किसी अधिकारिक अनुमति के दुकानों में घुस कर कपड़ो को अस्त-व्यस्त किया है. अधिकारी व कर्मचारी दुकानों से भारी मात्रा में कपड़े भी उठा कर ले गए हैं. पदाधिकारियों ने चेताया है कि यदि व्यापारियों पर दर्ज मुकदमा वापस नही हुआ तो व्यापार मंडल आर-पार की लड़ाई लड़ेगा.