6 जनवरी को लखनऊ के कठौता चौराहे पर हुए मोहम्मदाबाद ब्लॉक के पूर्व ज्येष्ठ उप प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में अखंड प्रताप सिंह, माफिया ध्रुव कुमार सिंह के साथ मुख्य आरोपी के तौर पर शामिल अखंड सिंह की लगभग दो करोड़ की संपत्ति जब्त होगी, पुलिस महकमे द्वारा भेजी गई रिपोर्ट पर जिलाधिकारी राजेश कुमार ने सोमवार की शाम जब्तीकरण का आदेश जारी किया है, यही नहीं अखंड सिंह पर अजीत हत्या के अलावा वाराणसी में हुए ट्रांसपोर्टर हत्याकांड का भी आरोप है, अजीत की हत्या के लिए अखंड सिंंह ने ही शूटरों का इंतजाम किया था, अखंड पर भी गैंगेस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज है, अखंड सिंह ने अपराध की दुनिया से अकूत संपत्ति अर्जित की है, पुलिस महकमे ने ऐसी लगभग दो करोड़ से अधिक के संपत्ति का ब्यौरा एकत्र कर अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को प्रेषित किया था, इस पर जिलाधिकारी ने सोमवार की देर शाम जब्तीकरण का आदेश जारी कर दिया है, जिलाधिकारी राजेश कुमार के अनुसार मेंहनगर तहसील क्षेत्र के जमुवा गांव स्थित गाटा संख्या 410 रकबा 11.265 हेक्टेयर मेंं, से 3.522 हेक्टेयर भूमि जो शिव कुमारी साहब शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान के नाम है, और जिसे अध्यक्ष अखंड प्रताप सिंह के नाम से क्रय की गई है, अनुमानित लागत 10918200 रुपये, ग्राम नदवा के गाटा संख्या 157 के रकबा 1.477 हेक्टेयर में से 0.155 हेक्टेयर अनुमानित लागत 480500, ग्राम नदवा के गाटा संख्या 172 रकबा 1.851 हेक्टेयर में से 0.056 हेक्टर जो वंदना सिंह पत्नी अखंड प्रताप सिंह के नाम है, अनुमानित लागत 173600 रुपये मात्र व जमुवा में गाटा संख्या 418 रकबा 2.416 व गाटा संख्या 417 रकबा 2.46 तथा गाटा संख्या 410 रकबा 11.256 हेक्टेयर में से 2.137 हेक्टेयर जो वंदना सिंह पत्नी अखंड प्रताप के नाम है ।