आफताब आलम

ईदउल अजहा को लेकर शनिवार  को गंभीरपुर थाना परिसर में शांति समिति की बैठक हुई, आयोजित बैठक में  बकरीद के त्योहार को शांति और शौहार्द से मनाने की अपील की गई । बैैठक की अध्यक्षता कर रहे उप जिला अधिकारी निजामाबाद राजू रतन सिंह ने कहा कि ईद उल अजहा का पर्व बलिदान, त्याग  का त्यौहार है। इस पर्व में गिला सिकवा भूल कर गले मिलने का त्योहार है। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान दें, इसमें अशांति का कोई स्थान नहीं है। थाना प्रभारी निरीक्षक ज्ञानू प्रिया ने कहा माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वाले भी बख्शे नहीं जाएगें। उन्होंने क्षेत्र के सभी लोगों से अपील किया की सोशल मीडिया पर या अन्य जगहों पर किसी तरह का कुछ ऐसा पोस्ट ना करें, जिससे कोई आहत हो, वरिष्ठ पत्रकार मास्टर अंसार ने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी कुर्बानी मनाई जाएगी । कुर्बानी गैर प्रतिबंधित जानवरों की ही करें, पूरी तरह साफ सफाई का ध्यान दें, घर के अंदर कुर्बानी करें, पर्दे की व्यवस्था सुनिश्चित करें, ताकि क्षेत्र में अमन चैन कायम रहे, ईद उलअजहा की नमाज के समय सोशल डिस्टेंसिंग था ध्यान दें । बैठक में उपनिरीक्षक नवल किशोर सिंह, उपनिरीक्षक लाल साहब सिंह, चौकी इंचार्ज सतीश यादव, उप निरीक्षक हरिचरण यादव, मौलाना अली, मोहम्मद रफीक उर्फ गुड्डू प्रधान, इकबाल उर्फ चुन्नू प्रधान, जितेंद्र सरोज, प्रधान राजेंद्र, इमाम रफीउल्लाह मोहम्मदपुर आदि रहे ।