1. बाईट- आईये सुनते हैं बच्चों की जबानी

बिकास सिंह

(बलिया) एक तरफ सरकार कहती है सबका साथ,सबका विकास, सरकार चाहती है पढाई दवाई हर जन जन सरकारी योजना हर गरीब तक पहुंच जाये दुसरी तरफ योगी सरकार परिषदीय स्कूलों और प्राथमिक स्कूलों के बच्चों तक बेहतरीन राशन उपलब्ध कराने का दावा कर रही है ।
मगर जिम्मेदारों के द्वारा बच्चों को गंदगी और कीड़ो के साथ राशन देकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते नजर आ रहे है।
जी हाँ ताजा मामला बलिया जिले के बांसडीह क्षेत्र के उच्च प्राथमिक विद्यालय बंकवा
कम्पोजिट शिक्षा क्षेत्र बांसडीह का जहा छात्र-छत्राओं को असंतुलित राशन दिए जाने का मामला सामने आया है।
आरोप लगाया गया कि कोरोना काल मे स्कूल के छात्रों को राशन वितरण करना था लेकिन वह राशन नही दिया गया, कोटेदार के द्वारा राशन खत्म होने की बात कही गयी। परिजनों का आरोप है कि कोटेदार ने राशन उठाकर बेच दिया गया वही इसकी शिकायत एसडीएम से किया गया और काफी दबाव के बाद कुछ बच्चों को राशन दिया गया जिसमे कंकड़, गंदगी युक्त था।
जिसकी शिकायत बच्चों के परिजनों ने जिलाधकारी अदिति सिंह से लिखित पत्रक के माध्यम से किया है।
आईये सुनाते है स्कूल के बच्चों के जुबानी ।