विनय शंकर राय

आजमगढ़ । राष्ट्रीय शिक्षा नीति समिति के अखिल भारतीय सदस्य तथा विद्या भारती के क्षेत्र संयोजक प्रोफेसर प्रभुनाथ सिंह मयंक ने सरस्वती शिशु मन्दिर लालगंज, ठेकमा, कोटा खुर्द, पल्हना, तरवा आदि का दौरा कर प्रबंध समितियों की बैठक ली। बैठक में कोरोना काल के कारण उत्पन्न हुई परिस्थितियों में कार्य कर रहे प्रधानाचार्यों तथा शिक्षकों की समस्याओं पर विचार विमर्श किया, इस दौरान प्रबंध समितियों से आग्रह किया गया कि वे स्वयं तथा अभिभावकों से संपर्क करके प्रधानाचार्य तथा शिक्षकों का सहयोग करें। प्रोफेसर प्रभुनाथ सिंह मयंक ने कहा कि वैश्विक अशांति तथा सर्वांगीण विकास के स्पर्धामय वातावरण में स्वाभिमानी ,परम शक्तिमान, लोक मंगलकारी ,समरसता वादी महान भारत का प्रखर राष्ट्रवाद ही विश्व विजय की ओर अग्रसर है। वर्तमान समय में कठिन चुनौतियां खड़ी करने वाले संप्रदायवादी, राष्ट्रघाती, कुटिल स्वार्थी, अवसरवादी, विपक्षी धुएं की तरह इतिहास से गायब हो जाएंगे।   विद्या भारती, अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान वर्तमान और भविष्य की समृद्धि हेतु प्रयासरत हैं। इस अवसर पर उमाशंकर मिश्र, रामजतन यादव, प्रेमनाथ सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य ओम प्रकाश सिंह, प्रधानाचार्य अंश दार यादव बैजनाथ सिंह, सुग्रीव जी, आदर्श बरनवाल, दिनेश गुप्ता सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।