श्याम सिंह
माहुल (आजमगढ़) अहरौला थाना क्षेत्र के निजामपुर गाँव में सरिया चोरी के मामले में पुलिस द्वारा प्रधानपति ओमप्रकाश उर्फ फौजी की गिरफ़्तारी से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार को निजामपुर बाजार में सड़क पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर पहुची अहरौला थाने की पुलिस ने ग्रामीणों को समझा बुझा कर जाम को समाप्त कराया। ज्ञात हो कि निर्माणाधीन पुर्वांचल एक्सप्रेस वे पर निजामपुर में बन रहे ओवरब्रिज में लगाने हेतु वहां गोदाम में रखी 12 टन सरिया की चोरी शुक्रवार रात में हुई थी। शनिवार को प्रोजेक्ट मैनेजर जेपी शर्मा द्वारा इस संबंध में कार्यवाही हेतु माहुल चौकी पर शिकायती पत्र दिया था। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई, और अहरौला थाने के सब इंस्पेक्टर जावेद अख्तर व चौकी प्रभारी माहुल विजय प्रकाश मौर्या सहित भारी संख्या में पुलिस बल के साथ एक्सप्रेस वे से सटे गाँव निजामपुर में चार घंटे तक छापेमारी की थी। इस छापेमारी में प्रधानपति ओमप्रकाश उर्फ फौजी सहित चार लोग गिरफ्तार किए गए थे, तथा पुलिस ने विभिन्न घरों से लगभग 25 कुंतल से अधिक सरिया बरामद किया था। प्रधानपति की गिरफ्तारी से ग्रामीण काफी आक्रोशित हो उठे, और  प्रधान स्नेहलता के नेतृत्व में रविवार दिन में 11 बजे सैकड़ो की संख्या में इकट्ठा होकर निर्माणाधीन ओवरब्रिज के समीप आ गए। उसके बाद ब्रिज पर काम कर रहे मजदूरों को मारपीट कर भगा दिया, और अंडरपास के नीचे सड़क पर जाम लगा दिया।आक्रोशित ग्रामीण पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रधान पति ओमप्रकाश उर्फ फौजी को रिहा किये जाने की मांग करने लगे। जाम की सूचना पर थानाध्यक्ष अहरौला श्रीप्रकाश शुक्ला भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुचे और ग्रामीणों को समझा बुझा कर किसी तरह से करीब तीन बजे जाम को समाप्त कराया।