राजेश सिंह
अतरौलिया क्षेत्र के चिस्तीपुर ग्राम सभा में पीड़ित झिनका देवी पत्नी गनपत को आवास नहीं मिला लेकिन आवास के नाम पर गरीब से पैसे वसूले गए ।पीड़िता ने बताया कि हमें आवास नहीं मिला है जबकि कई बार ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव द्वारा लिखने पढ़ने के बाद भी अभी तक आवास नहीं नसीब हुआ। वही अपात्र लोगों को आवास देकर विभागीय अधिकारी अपना कोरम पूरा कर रहे हैं। झिनका देवी ने बताया कि मुझे आवास देने के नाम पर कई बार मेरे द्वारा पैसे भी दिए गए तथा मुझसे दस हज़ार रुपये की मांग की गई थी जिसे मैं आवास के नाम पर थोड़े-थोड़े किस्तों में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि को दिया भी लेकिन अभी तक मुझे आवास नहीं मिला। मेरे कच्चे मकान को पक्का बताया जाता है जबकि कच्ची दीवाल पर सिर्फ टीन शेड ही लगा हुआ है और इसी झोपड़ी में मेरा परिवार गुजर-बसर करते हैं, ऐसे में ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव की मिलीभगत से मुझे आवास नहीं नसीब हो रहा जिसके लिए मुझे बार-बार दौड़ाया जाता है। मेरे सारे कागज जमा भी हैं लेकिन अभी तक आवास नहीं मिला। बता दें कि प्रदेश सरकार तथा केंद्र सरकार द्वारा हर गरीब को पक्का मकान देने का वादा किया गया है जिस के क्रम में निरंतर सरकार द्वारा प्रयास कर अधिक से अधिक गरीबों को आवास भी आवंटित किया जा रहा है ऐसे में एक गरीब को आवास ना मिलना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। खंड विकास अधिकारी विनोद कुमार बिंद ने बताया कि जो पात्र हैं और उन्हें आवाज से वंचित रखा गया है वे लोग स्वयं एक प्रार्थना पत्र के साथ अपने सारे कागज लेकर मेरे पास आए और उन्हें अवश्य आवास दिलाया जाएगा।