रिपोर्ट, श्याम सिंह
माहुल (आज़मगढ) अहरौला थाना क्षेत्र के निजामपुर बाजार में मंगलवार को आजाद समाज पार्टी द्वारा किये गए धरना व प्रदर्शन के मामले में देर रात पुलिस एक्शन लेते हुए आजाद समाज पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एहसान खान व निजामपुर की महिला प्रधान स्नेहलता सहित 20 लोगो को जहां नामजद किया है वही 80 अज्ञात पर बिना अनुमति धरना व प्रदर्शन व महामारी अधिनियम के उलंघन करने की विभिन्न धाराएं लगाते हुए मुकदमा पंजीकृत किया है, यही नहीं प्रदेश प्रवक्ता सहित सभी के गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह छापेमारी करना शुरू कर दिया है । पुलिस का कहना है कि जो भी गलत कार्य करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा । बताते चले कि 30 जुलाई की रात निर्माणाधीन पुर्वांचल एक्सप्रेस वे की 12 टन सरिया चोरी हुई थी। इस संबंध में एक्सप्रेस वे के प्रोजेक्ट मैनेजर शैलेन्द्र शर्मा की शिकायत के बाद निजामपुर गाँव में छापेमारी में विभिन्न घरों से 8 कुंतल सरिया बरामद हुई थी। पुलिस ने मौके से यहाँ के प्रधान स्नेहलता के पति ओमप्रकाश उर्फ फौजी सहित चार लोगों पर अभियोग दर्ज कर गिरफ्तार करके मजिस्ट्रेट के आदेश पर जेल भेज दिया था। इसी बात से आक्रोशित आज़ाद समाज पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एहसान खान की अगुआई में भीम आर्मी के लोगो ने सैकड़ो की संख्या में निजामपुर पहुंच कर धरना व प्रदर्शन किया था। इनका धरना दिन में 11 बजे से शुरू होकर शाम पांच बजे तक चला था। एहसान खान द्वारा किये गए इस धरना व प्रदर्शन के मामले में अहरौला पुलिस का कहना है कि धरना पूरी तरह से असंवैधानिक था, और इसकी कोई प्रशासनिक अनुमति नहीं थी। जिसमे उपस्थित जनसमूह ने कोविड गाइड लाइन का अनुपालन नही किया, और इनके द्वारा महामारी अधिनियम की धज्जियां उड़ाई गई। इस संबंध में चौकी प्रभारी माहुल विजय प्रकाश मौर्य का कहना है 20 नामजद व 80 अज्ञात पर इस मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है किसी को भी क़ानून या समाज के साथ खिलवाड़ करने का अधिकार नही है ।