पिन्टू सिंह

(बलिया) यूपी के बलिया जिले के रसड़ा तहसील क्षेत्र के डेहरी गांव की निवासी इतिहास में पहली बार नेहा सिंह का नाम गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ। गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ चार विश्व रिकॉर्ड प्राप्त भी है तथा सात किताबों की लेखिका भी हैं। आपको यह जानकर बहुत हर्ष होगा कि अन्तर्राष्ट्रीय कलाकार नेहा सिंह को “भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन” के अंतर्गत बलिया “जिला की महिला संरक्षण अध्यक्ष” बनाया गया है। मानवाधिकार के विषय में नेहा सिंह का कहना है कि स्वतंत्रता, समानता और सम्मान का अधिकार हर मानव को है। प्रत्येक मानव को उसकी गरिमा एवं अधिकारों का जन्म से ही स्वतंत्रता व समानता दिया गया है। मैं आभारी हूँ “भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन” का जिन्होंने इतना बड़ा उत्तरदायित्व दिया। मैं पूरी निष्ठा इस पद का निर्वहन करुँगी। गैरकानूनी कार्य, महिला उत्पीड़न, भुखमरी, दहेज, सांप्रदायिक हिंसा, श्रमिक शोषण, बालश्रम, पुलिस कार्य में विफलता, बलात्कार बिना सूचना नौकरी से निकाल देना, मजदूरी कराकर पैसे ना देना, मौलिक अधिकारों का हनन, अनुसूचित जाति एवं जनजातियों के विरुद्ध अत्याचार इत्यादि मानवाधिकार के विरुद्ध हैं और मैं सदैव ही मानव के अधिकार समानता, सम्मान एवं स्वतंत्रता हेतु प्रयास करुँगी। नेहा सिंह को भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन जिला महिला संरक्षण अध्यक्ष बनाने की हार्दिक शुभकामनाएं।
साथ ही विधायक उमाशंकर सिंह ने इस सफलता पर बिटिया को बधाई दिया।
मानवाधिकार एसोसियेशन के संस्थापक परम पूज्य राजा साहब जी थे तथा भारतीय मानवाधिकार एसोसिएशन नई दिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष/चेयरमैन माननीय श्री अनुराग चंद्रवंशी जी हैं।