(बलिया) उत्तर प्रदेश के बलिया जिला के रसड़ा स्वास्थ्य विभाग में चल रहा है फर्जीवाड़ा जी हाँ
रसड़ा सीएचसी पर दो काउसलर का नियूक्त है जिसमें से महिला काउसलर प्रतिदिन समय से उपस्थित रहती है।
वहीं दुसरा काउसलर कभी दिखाई नहीं पडता है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तमाम दुर्व्यवस्थाएं है जिसके समाधान नहीं होने से लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। इन समस्याओ को नासूर बनने में यहां के जिम्मेदारों अधिकारी की भूमिका अहम है। सबसे बड़ी विडबंना तो यह है कि फर्जी उपस्थिति के सहारे यह सीएचसी केंद्र पर काउंसलर  नहीं आते और अधिकांश दिन नेताओं का चर्ण वदना से ही दायित्वों का निर्हन कर रहे हैं जिससे समस्याएं दिनप्रतिदिन बढ़ती जी चली जा रही है। यदि समय रहते इसकी निष्पक्ष जांच कर जिम्मेदारों के विरूद्ध कार्रवाई नहीं कई तो व्यवस्थाओ में सुधार होने के बजाय स्थिति और भी बद्तर होकर रह जायेगी।
इस समस्या को यहा के अधीक्षक व एडिशनल सीएमओ विरेन्द्र कुमार को दूरसंचार के माध्यम से अवगत कराया गया मगर कोई कारवाई नहीं किया जा रहा है।
फिर संवाददाता ने नवागत सीएमओ को दूरभाष से अवगत कराने के लिए लगातार फोन मिलाया गया मगर हुजूर ने फोन उठाने की जहमत नहीं उठाया।
आखिरकार किसके इशारे पर फर्जी उपस्थित हो रही है।