अबुल फैज

आजमगढ़  : जिले के जहानागंज थाने में तैनात प्रभारी निरीक्षक अखिलेश मिश्र को गृह मंत्रालय की ओर से मेडल प्रदान किए जाने से महकमे में खुशी की लहर है। यह मेडल उन्हें उत्कृष्ट विवेचना के लिए प्रदान किया गया है । दरअसल, 24 नवंबर 2019 की रात मुबारकपुर में महिला समेत तीन लोगों की सिर कूंचकर हत्या कर दी गई थी। घटना में बची एकमात्र लड़की की पहचान के आधार पर एक निर्दोष को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। भीड़ का दबाव था कि उसे पब्लिक के हवाले किया जाए, लेकिन पुलिस ने संयम से काम लिया। कई दिनों की पूछताछ के बाद पुलिस को लगा कि गिरफ्त में लिया गया व्यक्ति निर्दोष हो सकता है। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में रखते हुए अपनी विवेचना जारी रखी। इसका नतीजा रहा कि असली गुनाहगार सलाखों के पीछे ही नहीं पहुंचा, बल्कि सबूतों के आधार पर अदालत ने उसे फांसी की सजा सुना दी। गृह मंत्रालय की ओर से मेडल मिलने के बाद इंस्पेक्टर अखिलेश मिश्र ने कहा कि निश्चित तौर पर यह खुशी का विषय है। आगे भी मेरा प्रयास होगा कि किसी निर्दोष को सजा न मिले, बल्कि उत्कृष्ट विवेचना कर असली गुनाहगार को सजा दिलाई जाए। मेडल मिलने से हौसला तो बढ़ा ही है, लेकिन अब मेरी जिम्मेदारी भी बढ़ गई है कि किसी निर्दोष को फंसने न दिया जाए।