वरूण सिंह
यूपी के बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी सोमवार को ऐंबुलेंस मामले में बाराबंकी की विशेष सत्र न्यायाधीश एमपी/एमएलए कोर्ट में पेश हुए, कोर्ट नंबर 10 की इंचार्ज मौसमी मदेशिया की कोर्ट में बांदा जेल से वर्चुअल सुनवाई के दौरान मुख्तार अंसारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी हत्या के लिये पांच करोड़ की सुपारी दी गई है, मुख्तार अंसारी के मुताबिक उसे सूचना मिली है कि किसी को उसकी हत्या करने के लिये कहा गया है, साथ ही यह भी कहा गया है कि जो मेरी हत्या कर देगा, उसके घर पांच करोड़ रुपया पहुंच जाएगा, यही नहीं उसके सारे मुकदमे भी खत्म कर दिए जाएंगे, कोर्ट में वर्चुअल सुनवाई के संबंध में मुख्तार अंसारी के वकील रणधीर सिंह सुमन ने यह जानकारी दी, रणधीर सिंह सुमन के मुताबिक मुख्तार अंसारी ने सुनवाई के दौरान जज के सामने आरोप लगाया कि इन दिनों बांदा जेल में पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारी और कुछ संदिग्ध लोग जेल बुक पर एंट्री किए बिना ही अंदर आते हैं, इतना ही नहीं जब ये लोग आते हैं, तो जेल के सीसीटीवी का मुंह भी घुमा दिया जाता है, मुख्तार का आरोप है कि यूपी की जेलों लगातार हत्याएं हो रही हैं, गाड़ियों के एक्सीडेंट के नाम पर भी लोगों को मारा जा रहा है, ऐसे में उसे डर है कि जेल में उसकी भी हत्या की जा सकती है । मुख्तार अंसारी ने कोर्ट नंबर 10 की इंचार्ज जज मौसमी मदेशिया से मांग करते हुए कहा कि जेल की गेटबुक और वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच कराई जाए, सारा सच सामने आ जाएगा, मुख्तार अंसारी ने जज के सामने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की ।