राजेश सिंह
अतरौलिया क्षेत्र के खानपुर रना, टंडवा गांव निवासी रमेश कुमार पुत्र स्व0 बंशु का बरसों पुराना कच्चा मकान भारी बरसात की वजह से गिर गया, तथा घर गृहस्ती का सभी जरूरी सामान भी मकान में नष्ट हो गया, जिसकी वजह से गरीब परिवार बरसात के मौसम में खुले आसमान के नीचे जीवन यापन कर रहा है। परिवार वालों का आरोप है कि पूर्व प्रधान तथा ग्राम सचिव द्वारा उन्हें अभी तक आवास नहीं दिया गया जबकि हकीकत में वह इसके पात्र थे, जिसके लिए कई बार पूर्व प्रधान तथा ग्राम सचिव को अपने जरूरी कागजात भी सौपे । ग्राम सचिव द्वारा मौके पर गरीब परिवार के घर का निरीक्षण भी किया गया  परंतु अभी तक उसे आवास से वंचित रखा गया। ऐसे में गरीब परिवार के सामने छोटे-छोटे बच्चों के साथ बर्षात के मौसम में जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल हो गया है। भारी बरसात में पूरा मकान गिर गया तथा खाने पीने के लिए प्लास्टिक की तिरपाल लगाकर भोजन की ब्यवस्था की जाती है। वही गांव में करीब आधा दर्जन लोगों को पूर्व ग्राम प्रधान द्वारा आवास नहीं दिया गया । स्थानीय गांव निवासी कलावती पत्नी स्वर्गीय दूरदेशी जिनकी मौत दो महीने पहले हो चुकी है, पत्नी कलावती की कच्चे मकान में रहते समय मकान गिर गया जिसमें किसी तरह गांव वालों ने उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला तथा गांव से चंदा एकत्रित कर उनका टीनशेड लगवाया, जिसमें 70 वर्षीय बुजुर्ग कलावती रहती है। कलावती ने बताया कि पूर्व प्रधान को कई बार अपने कागज सौपे परंतु आज तक उन्हें आवास नहीं दिया गया।