राजेश सिंह 

(अतरौलिया) आजमगढ़ । 2021 में सरकार ने हर गरीब को घर देने का वादा किया है । जिले वार लक्ष्य भी निर्धारित किया गया है, तो वही प्रशासन द्वारा 50  प्रतिशत निर्माण पूरा करने का दावा किया जा रहा है । लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। अतरौलिया थाना क्षेत्र के गोरहरपुर गांव निवासी मिश्रीलाल मौर्य पुत्र स्वर्गीय रामहित मौर्य का कई वर्ष पुराना कच्चा मकान बारिश की वजह से गिर गया है। मिश्री लाल मौर्या के पास रहने के लिए अन्य कोई मकान नहीं है। पूर्व ग्राम प्रधान द्वारा अभी तक 80 वर्षीय बुजुर्ग को आवास नहीं नसीब हुआ, जबकि हकीकत में मिश्री लाल मौर्या आवास पाने के पात्र भी हैं । ऐसे में सरकारी योजनाओं को जिम्मेदार अधिकारी पलीता लगा रहे हैं, जबकि सरकार द्वारा 2021 तक सभी को आवास देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। ऐसे में मिश्रीलाल मौर्य एक बहुत ही गरीब किसान है, जिनके पास रहने के लिए सिर्फ एक कच्चा मकान ही था, जो बारिश की भेंट चढ़ चुका है । लेकिन कोई भी जिम्मेदार इस हकीकत को देखने तक नहीं पहुंचा। इन दिनों लगातार हो रही बारिश की वजह से 80 वर्षीय बुजुर्ग के सामने कठिनाइयों का पहाड़ टूट पड़ा है, रहने और खाना बनाने के लिए काफी दिक्कतें आ रही हैं। वही मिश्री लाल मौर्या ने बताया कि मुझे अभी तक आवास नहीं मिला है, जबकि मेरे पास अन्य कोई भी आवास नहीं है। कच्चे मकान में रहते थे जो बारिश में पूरी तरह से गिर चुका है । अब रहने के लिए कोई जगह नहीं बची है। पड़ोस के एक मकान में किसी तरह जीवन यापन कर रहे।