रिपोर्ट, हम्माद
मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इंदौर में चूड़ी बेचने वाले एक मुसलमान शख़्स को कथित तौर पर मज़हब की वजह से पीटा गया, और धमकी दी गई कि चूड़ी बेचने हिंदुओं के इलाक़े में न आया करें, बाद में मामले में नया मोड़ आ गया है, पुलिस ने चूड़ी बेचने वाले युवक गोलू उर्फ तस्लीम उर्फ असलीम पर पॉस्को एक्ट समेत 9 गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है, युवक पर फर्जी पहचान पत्र और नाबालिक बच्ची के साथ छेड़खानी का आरोप है, वहीं, अल्पसंख्यक आयोग ने इस मामले में इंदौर के कलेक्टर को नोटिस करते हुए पूछा है कि अल्पसंख्यक शख़्स को धर्म पूछकर बहुसंख्यक इलाक़े में उसके आने पर हमला क्यों किया गया, एसपी ईस्ट आशुतोष बागरी के मुताबिक कोतवाली थाने पर हंगामा करने वाले करीब 30 लोगों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई है, मामले में तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है, पुलिस का कहना बाकी तीन और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा, इंदौर के दोनों मंत्रियों ऊषा ठाकुर और तुलसी सिलावट ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं, डीएम मनीष सिंह ने कहा कि सेंट्रल कोतवाली थाने पर हुए प्रदर्शन में पीएफआई का हाथ सामने आया है, हम शांति बनाकर रख रहे हैं, थाने पर कल का प्रदर्शन आपत्ति जनक है, एसडीपीआई और पीएफआई पर इंटलिजेंस भी नजर रख रहा है, जो भी माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा है उस पर सख्त कार्रवाई होगी, इस मामले में हैदराबाद से सांसद व एआईएमआईएम नेता असदुद्दी ओवैसी ने भी इस पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है, उन्होंने लिखा कि अब पुलिस ने तस्लीम के ख़िलाफ़ ही एफआईआर दर्ज कर दी है, साथ ही उन्होंने ये भी लिखा कि एमपी के गृह मंत्री भी खुल कर अपराधियों के लिए बहाने बना रहे हैं, रविवार की देर शाम सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो में मौजूद शख़्स का नाम तस्लीम है, और वो उत्तर प्रदेश के हरदोई के रहने वाला है, वो चूड़ियां बेचने के लिए इंदौर आता रहता है, लेकिन मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का दावा है कि वह व्यक्ति हिंदू नाम रखकर चूड़ियाँ बेचता था, मंत्री के मुताबिक़ चूड़ी बेचने वाले के पास से दो फर्जी आधारकार्ड भी मिले हैं ।