राजेश सिंह
आजमगढ़ । कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान सभी विद्यालय और कोचिंग संस्थान को सरकारी आदेश पर बंद करा दिया गया था, वही बच्चों का पठन-पाठन भी काफी प्रभावित हुआ, जिसमें मेहनत से तैयारी करने वाले बच्चे घर पर ही रहकर ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण कर रहे थे । 1 सितंबर 2021 से छोटे बच्चों का व कोचिंग संस्थान खुल जाने से बच्चों में खुशी देखने को मिली । वही कोचिंग संचालकों ने बच्चों के बैठने के साथ साथ कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने कोचिंग संस्थान के दरवाजे खोल दिए। जिसमें बुधवार सुबह से ही कोचिंग संचालकों में जहां खुशी रही । वहीं बच्चों की तादाद भी काफी ज्यादा रही, जिन्हें कोविड-19 नियमो के तहत बैठने तथा पठन-पाठन की व्यवस्था कराने के लिए सभी नियमों का पालन किया गया । अतरौलिया क्षेत्र में लगभग एक दर्जन कोचिंग संचालकों द्वारा अपने कोचिंग संस्थान को बुधवार को खोल दिया गया, जहां बच्चों का पठन-पाठन सुचारु रुप से चालू हो गया। सुबह से ही बच्चे कोचिंग संस्थान की तरफ अपना रुख किये और पठन-पाठन में अपना ध्यान दिया, वहीं अभिभावकों में भी कोचिंग संस्थान खुल जाने से खुशी देखने को मिली, क्योंकि शिक्षा के अभाव में बच्चों का पठन-पाठन काफी प्रभावित हो रहा था, जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने 1 सितंबर 2021 से चालू कर दिया । क्षेत्र के कोचिंग संस्थान खुल जाने से बच्चों और अभिभावकों में खुशी की लहर व्याप्त है।