अबुल फैज
आज़नगढ़ । आल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज़ की तरफ से सभी धर्मों की जातिवार गणना के लिए जागरुकता मिशन के तहत मुबारकपुर के मोहल्ला नेवादा दक्षिण जानिब हाजी मोहम्मद अहमद के आवास पर सभासद शम्सुज़्ज़मा अंसारी की देखरेख में एक मीटिंग का आयोजन करके लोगों को जागरूक किया गया। मीटिंग की अध्यक्षता हाफिज़ जमीलुर्रहमान और संचालन मकबूल कटरा ने की, इस अवसर पर हाजी नेसार अहमद अंसारी पसमांदा प्रचारक खैराबाद ने कहा कि 2021 में राष्ट्रीय जनगणना होनी है, पिछली जनगणना 2011 में हुई थी, आज तक उसके आंकड़े प्रकाशित नहीं किए गए, हम चाहते हैं कि ज़ात पर आधारित जनगणना राष्ट्रीय स्तर पर इस साल हो, ऑल इंडिया पासमांदा मुस्लिम महज़ की शुरू से यह मांग रही है कि बिहार के तर्ज़ केंद्र, उत्तर प्रदेश तथा दूसरे राज्यों में भी अन्य पिछड़े वर्ग को दो अनुसूचियों में बांटा जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जब धर्म के आधार पर जनगणना होती है, तो जाति के आधार पर क्यों नहीं अनुसूचित जाति जनजाति की तो गणना होती ही है, फिर अन्य पिछड़े वर्गों तथा जनरल कैटेगरी के लोगों की गणना क्यों नहीं, इन की माली हालत जमीन जायदाद रोजगार सरकारी गैर सरकारी नौकरियों में इनकी संख्या की गिनती क्यों नहीं होती। सब लोग जनगणना में अपनी जाति लिखवाएं। जाति वही लिखें जो गजट में दर्ज हो। जिससे साम्प्रदायिकता भी कमजोर होगी। कांग्रेस नगर अध्यक्ष जफर अख्तर और मकबूल अहमद कटरा ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर हाजी मोहम्मद अहमद, शम्सुज़्ज़मा अंसारी सभासद, कमाल अख्तर, अमीर अहमद पूर्व प्रधान, हाफिज़ अबु ज़ैद, हाशिम अनवार, ज़फीर अहमद, वसीम अहमद, अनीस अख्तर, इम्तेयाज़ अहमद आदि लोग मौजूद थे।