आफताब आलम
आजमगढ़ । बरसात के दिनों में वैसे तो हर साल बीमारियां अपना पैर पसारती हैं, लेकिन इस बार ज्यादा बारिश होना, और बरसात का पानी का सही निकास ना होने के कारण पूरे जनपद के साथ ही बिंद्रा बाजार सहित अन्य क्षेत्रों में जल जमाव गंदगी फैली हुई है, जिसके कारण बीमारियों का खतरा बढ़ गया है । बीमारियों के खतरे को देखते हुए आम जनमानस को काफी दिक्कतें हो रही हैं । नतीजा यह है कि हर गांव में प्रत्येक परिवार में लोग सर्दी, जुखाम, बुखार, टायफायड, मलेरिया के प्रकोप से पीड़ित है। डेगूं का खतरा भी सर पर मड़रा रहा है, जबकि शासन का निर्देश है कि गांव में जलजमाव, गन्दगी से निपटने के लिए कार्य किए जाने का शासन का कठोर निर्देश भी है, इसके बाद भी यह कार्य धरातल पर नहीं दिख रहा है, जिससे क्षेत्र में दिन प्रतिदिन बीमारियां बढ़ती जा रही है। ग्राम पंचायत मखदुमपुर हुजैफा, राजीक ग्राम पंचायत कोइलाड़ी बुजुर्ग के बबलू, तौकर, बिंद्राबाजार में साकिब, कलीम, दयालपुर में जयमंगल, गम्भीर पुर में इश्तियाक अहमद, कृष्णकांत उपाध्याय, मोहन मौर्य सर्दी जुखाम बुखार मलेरिया टाइफाइड से पीड़ित है, लोगों ने शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए क्षेत्र में गंदगी को दूर करने एवं बीमारियों से निपटने के लिए मांग किया है, कि गांव में बीमार लोगों को चिन्हित कर कार्य किया जाए, और शासन द्वारा गांव के लोगों को चलाई जा रही योजनाओं को गांव तक लाया जाए, इस संबंध में खंड विकास अधिकारी संतोष नरायण गुप्ता से बात करने पर बताया कि गांव में गंदगी साफ सफाई एवं संचारी रोग से निपटने के लिए संबंधित कर्मचारियों को बराबर दिशा निर्देश दिया गया है, इसके बाद भी यदि गांव में इन कर्मचारियों द्वारा अनुपालन नहीं किया जा रहा है, तो उसकी जांच कर कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ सिद्धार्थ शंकर ने बताया कि गांव में दवाओं के छिड़काव के लिए आशाओं को नियुक्त किया गया है ।