ग्रामीणों को पशु तस्करी में लिप्त महिलाओ के अलावे पशु तस्करों के विरोध का भी सामना करना पड़ा।

पशु तस्कर ग्रामीणों को तलवार और चाकू लेकर मारने दौड़े

पुलिस ने मवेशियों सहित तीन महिला व एक पुरुष पशु तस्कर को पकड़ कर थाने ले आई।

बलिया / नगरा थाना क्षेत्र के ताड़ीबड़ा गांव के रास्ते लहसनीकमरौली नहर मार्ग से अंदर ही अंदर काफी दिनों से पशु तस्करी का खेल जारी था। सोमवार को भोर में भी ताड़ीबड़ा गांव के समीप लगभग आधे दर्जन पशु तस्कर पिकअप पर लदे पशुओं को लेकरअपने कामों को अंजाम देने के फिराक में थे। उसी समय ग्रामीण व युवा शौच और टहलने के लिए खेतों के तरफ गए थे। ग्रामीण जब पशुओं को पिकअप में ठुसा हुआ देखा तो उन्हें शंका हुई और वे पशु तस्करो का घेराबन्दी कर दिए। इस दौरान ग्रामीणों एवं पशु तस्करों में विवाद की स्थिति पैदा हो गई और पशु तस्कर ग्रामीणों पर हमला करने के लिए तलवार भी निकाल लिए लेकिन ग्रामीणों के शोर अन्य ग्रामीण भी दौड़ पड़े ।अन्य ग्रामीणों के आते देख पशु तस्कर जल्दी जल्दी पिकअप में बंधे पशुओं का रस्सी काट दिया, जिससे पशु गाड़ी से नीचे कूद गए । पशु तस्कर भागने लगे ।
ग्रामीण एक पशु तस्कर को पकड़ लिए, जबकि चार पशु तस्कर वाहन से भागने में सफल रहे। भागते वक़्त पशु तस्करो ने पिकअप से एक गाय को भी कुचल दिया, जिससे गाय गम्भीर रूप से घायल हो गई। इस दौरान पशु तस्करी में शामिल कुछ महिलाएं भी पहुंच कर ग्रामीणों से उलझ गई। ग्रामीण पकड़े गए पशु तस्कर की जमकर पिटाई की और पुलिस को सूचना दिए। मौके पर पहुंची पुलिस नौ मवेशियों सहित तीन महिला व एक पुरुष पशु तस्कर को पकड़ कर थाने ले आई। ग्रामीणों ने बताया कि यह काम आए दिन होता है और सब कुछ जानते हुए पुलिस चुप्पी साधे रहती है।