👉मंडल रेल प्रबंधक श्री रामश्रय पाण्डेय ने लोगों से किया अपील रेल ट्रैक पर कहीं कुछ दिखाई पडे तो तत्काल गेटमैन व स्टेशन मास्टर को सूचना देकर भारतीय रेल का सहयोग करें।

पिन्टू सिंह

(बलिया) यूपी के मऊ में भारी बारिश से स्थानीय मऊ रेलवे जंक्शन के पास रेलवे ट्रैक के नीचे की मिट्टी लगभग पांच फुट धंसने के बाद भी जब तेज रफ्तार दो एक्सप्रेस ट्रेनें गुजर गयीं और इसकी सूचना रेल अधिकारियों को मिली तो महकमे में हड़कंप मच गया।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया जाता कि टहलने निकले स्थानीय नागरिक हरिप्रसाद ने ट्रैक मैन को सबसे पहले सूचना दिया कि सिकटिया ब्रिज के पास रेलवे पटरी के नीचे की मिट्टी लगभग 5 फीट गहरी खिसक गई है। ट्रैक मैन ने इस बात की सूचना तुरंत अपने आला अधिकारियों को दिया।
खबर सुनते ही रेलवे के अधिकारियों के हाथ पांव-फूल गए और आला अधिकारियों ने उस वक्त की सारी ट्रेनों को जहांका तहां खड़ी कर दिया। आनन-फानन अधिकारी मौके पर जांच पड़ताल के लिए पहुंच गए और पटरी को ठीक कराने का कार्य युद्ब स्तर पर शुरू कराया । सबसे बड़ी बात यह है कि उस खतरनाक पटरी से 05018 दादर एक्सप्रेस तथा 04005 लिच्छवी एक्सप्रेस फुल स्पीड से गुजर गई। भला हो उस ब्यक्ति का कि उसने अपनी मानवता दिखाई और एक बड़ा रेल हादसा होने से बचा लिया।।रेल कर्मियों ने युद्ध स्तर पर काम कर घंटों बाद रेल संचालन बहाल किया।तब जाकर ट्रेनों का आना-जाना शुरू हुआ।
इस संबंध में दैनिक भास्कर संवाददाता ने वाराणसी मंडल रेल प्रबंधक श्री रामश्रय पाण्डेय से इस घटना पर प्रतिक्रिया लिया उन्होंने कहा कि रेलवे ट्रैक के अगल बगल कुछ भी दिखे तो भारतीय रेल यात्रियों का सहयोग करने के लिए तत्काल गेटमैन व स्टेशन मास्टर को सूचित करें।
साथ ही संवाददाता ने बलिया लखनऊ नेशनल हाईवे पर फेफना, गढिहा,कटिहारी, रतनपुरा रेलवे क्रासिंग पर जल्द ही ऐम्बुलेंस सायरन लगेगा।ताकि गेट गिराते सम एम्बुलेंस आवाज सुनकर लोग अपनी गाडी धिरे कर लेगें ताकि कोई दुर्घटना ना घटे।