बाईट- रसोईया शारजहा

बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र दिवेद्बी का आज ही विभागीय समीक्षा बैठक करेंगे साढे 11 बजें

 रिपोर्ट- पिन्टू सिंह

(बलिया) उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के. रसड़ा क्षेत्र में प्रदेश के मुख्यमंत्री का संभावित आगमन को लेकर सभी विभागों मे हडकंप मचा हुआ है।
ऐसे में सोमवार को प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र दिवेद्बी का जनपद में आगमन प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन मे मुख्य अतिथि है।
इधर शिक्षा व स्वास्थ्य विभाग अपनी अपनी नाकामी छुपाने के लिए ताबड़तोड़ भवनों को रगाई पोताई करा रही है।
शिवनारायण सिंह ने संभावित आगमन को लेकर परिषदीय अध्यापकों को प्रात: आठ बजे से दो बजे तक विद्यालय में रहने के निर्देश दिया है।
बावजूद इसके रसड़ा शिक्षा क्षेत्र में विधालय रसोइया के हवाले
बानगी के रुप मे शिक्षा क्षेत्र रसड़ा कन्या प्राथमिक विद्यालय अमहर पट्टी उत्तर धरातरल का सच्चाई जानने के लिए विधालय पर जब दैनिक भास्कर संवाददाता 8,30 पहुंचे तो रसोईया व सहायक अध्यापिका के भरोसे स्कूल खुला था।
यहां पर बताते चलें कि बच्चों का नामांकन 74 के सापेक्ष 14 उपस्थिति मिले कुल शिक्षक पांच
मगर जिम्मेदार प्रधानाध्यापक अवधेश चौरसिया, सहायक अध्यापिका पूजा शर्मा, राकेश खरवार शिक्षा मित्र, पुष्पा सिंह शिक्षा मित्र
सुबह 8 ,30 साढे आठ बजे तक स्कूल से अनुउपस्थित रहे।
समय से उपस्थित सपना सिंह व रसोईया शाहजहां उपस्थित मिली।
हालांकि 8,45 तक अवधेश चौरसिया, राकेश खरवार पुष्पा सिंह उपस्थित हो गए मगर ग्रामीणों का आरोप वाली शिक्षिका का 9 बजे तक अता पता नहीं चला ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि यह शिक्षिका स्कूल नहीं आती है और अपना वेतन का कुछ भाग अधिकारियों को हर महिने चढावा चढाकर घर बैठे सरकार के सपनों को पलीता लगातीं है।
हालांकि रसड़ा क्षेत्र में यह चर्चा है कि आधा दर्जन लोग महानगरों में उपस्थित रहने के बावजूद यहा पर उपस्थित दर्ज कराकर वेतन का कुछ भाग आनलाइन एक हेडमास्टर के खाता मे हर महीने भेज देते हैं वहीं साहब को दिन रात घूमता है।
समय रहते अगर उस हेडमास्टर का खाता चेक करें तो पता चलेगा कि कौन कौन घर बैठे वेतन ले रहा है। खैर विभाग जाने
हालांकि दैनिक भास्कर संवाददाता बार बार बलिया बीएसए को ध्यान आकृष्ट करा रहा हैं।
बेसिक के निर्देश को नजरअंदाज कर रसोईयों के हवाले स्कूल छोड लोग गायब रहते है ।
फिर संवाददाता ने जिला बेसिक शिवनारायण सिंह जी के मोबाइल पर सम्पर्क किया और इस स्कूल के प्रति लापरवाही पर. ध्यान आकृष्ट कराया मगर जिम्मेदार बेसिक साहब का फोन पर हसां जा रहा है और कहा जा रहा है कारवाई जरूर होगा मगर आज बेसिक शिक्षा मंत्री का कार्यक्रम है इसलिए साहब उसी मे लगे है।