सुधीर अस्थाना

(मेहनगर) आजमगढ़। राजकीय कृषि भंडार मेहनगर के प्रभारी अजीत कुमार ने बताया कि किसान भाई इस समय अपने खेतों में जिप्सम का प्रयोग करके मृदा की उर्वरता बढ़ा सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिप्सम  बेहतरीन भूमि सुधाकर है । यह क्षारीय मृदा की अम्लता और एल्युमिनियम के हानिकारक प्रभाव को समाप्त कर मृदा को खेती योग्य बना देता है। जिप्सम में 22 प्रतिशत सल्फर और 18 प्रतिशत कैल्सियम होता है, जो मृदा में वायु संचार बढ़ाता है। इससे नाइट्रोजन, पोटास और फास्फोरस पौधे मृदा से आसानी से ग्रहण कर पाते हैं। जिप्सम का उपयोग फसलों में अधिक उपज तथा उनकी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए किया जाता है। कहा कि सम्मानित किसान भाई राजकीय कृषि भण्डार से इसे खरीद सकते हैं। यह 50 किलोग्राम की बोरी में आता है, इसका मूल्य 275 रूपए है। इस पर प्रदेश सरकार 70 प्रतिशत का अनुदान भी देती है, और एक किसान अधिकतम 12 बोरी तक जिप्सम ले सकता है। इस समय जलयुक्त धान के खेत में तीन बोरी प्रति बीघा की दर से प्रयोग में लाया जा सकता है।