श्याम सिंह
माहुल (आज़मगढ़) जीवित्पुत्रिका के पर्व पर बुधवार को माहुल नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र आस्था के रंग में रंगे रहे। नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में इसे श्रद्धापूर्वक मनाया गया। माताओं ने कठोर निर्जला व्रत रख कर पुत्रों के दीर्घायु होने की कामना किया। माहुल, गुमकोठी ,पूरामया, पुरगोविंद, गनवारा, कन्दरा, पाकड़पुर, बरामदपुर सहित क्षेत्र केे सभी मन्दिरो एवं सार्वजनिक स्थानों पर भारी भीड़ रही। देर शाम तक व्रती माताओ ने पूजन-अर्चन के बाद जीवित्पुत्रिका की कथा सुनकर पुत्र की दीर्घायु होने की कामना किया । नगर पचांयत माहुल के सिद्धपीठ काली चौरा मंदिर पर व्रती माताओ के पहुंचने का सिलसिला 4 बजे दिन से ही शुरू हो गया। शाम होते ही मंदिर परिसर मे भारी भीड़ जुट गई। श्रद्धालु महिलाओं ने पूजन-अर्चन शुरू कर दिया। पूजा स्थलों पर निराजल व्रती माताओं  के साथ कथा सुनने वालों की भारी भीड़ रही। इस मौके पर व्रती माताओ ने कथा सुनी और पुत्र की लंबी आयु और सुख समृद्धि की कामना की। भीषण गर्मी के बावजूद व्रती माताओ की आस्था मौसम पर भारी रही। इस मौके पर कार्यक्रम संयोजक आशु जयसवाल ने सभी माताओं बहनों का चरण स्पर्श किया बृजेश मौर्य, संदीप अग्रहरि (दीपू)विष्णु कांत पाण्डेय, शिव शंकर मिश्रा, रमेश राजभर, अजय पाण्डेय, सौरभ राजभर, मन्दिर संरक्षक हरदेव पाण्डेय आदि उपस्थित रहे।