पिन्टू सिंह 

(बलिया) उत्तर प्रदेश सरकार लगातार स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को बेहतर करने में जुटी हुई है और भरे मंच से इस बात का ऐलान भी खूब करती नजर आती है. वहीं उत्तर प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का दावा करने वाली योगी सरकार भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ती जा रही है. अधिकारी सरकार की योजनाओं और सुविधाओं पर सट्टा लगाते नजर आ रहे हैं. भ्रष्टाचार निचले स्तर से शुरू होकर ऊंचे अधिकारियों के टेबल तक कैसे पहुंच चुका है.
यूपी के बलिया जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सरायभारती अस्पताल में महिलाओं मरीजों से दवाई के नाम पर खुलेआम रुपए लिये जा रहे हैं।
वायरल वीडियो में फर्मासिस्ट द्रारा पैसा लेने का वीडियो वायरल होने पर संवाददाता ने सच्चाई जाने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सरायभारती पहुंचा जहाँ फार्मासिस्ट द्रारा परजी का पैसा लेना बतलाया गया मगर ग्रामीणों ने गंभीर आरोप लगाया कि फार्मासिस्ट पैसा लेता है।
स्वास्थ्य विभाग का हाल बेहद खराब जब भ्रष्ट अधिकारी हो तो दवाई के नाम पर अपनी कमाई करनेवाले फार्मासिस्ट के हौसले बुंलद होगें।
जनता से वसूली का खेल खेला जा रहा है।
जबाब तो स्वास्थ्य मंत्री और विभाग में सालों से जमें अधिकारी ही दे सकते है।
👉इस संबंध में मुख्यचिकित्साधिकारी से सम्पर्क करना चाहा मगर उनका मोबाइल बंद मिला।
👉इस संबंध में अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार का ध्यान आकृष्ट कराते हुए उनका पक्ष जानना चाहा मगर हसते हुए गैर जिमेदाराना बयान
👉इस संबंध में बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह से प्रतिक्रिया लिया तो उन्होंने कहा मामला गंभीर है ऐसे कर्मचारियों पर कडी कारवाई होनी चाहिए।
👉इस संबंध में क्षेत्रीय विधायक उमाशंकर सिंह को ध्यान आकृष्ट कराया गया तो उन्होंने कहा कि मामला गंभीर है सरकार दवाई निशुल्क दे रही हैं फिर पैसा क्यों लिया गया।
मुख्यचिकित्साधिकारी सहित बलिया जिलाधिकारी से बातचीत कर भ्रष्ट फार्मासिस्ट पर होगी कारवाई।