राजेश सिंह
अतरौलिया क्षेत्र के केशरी तिराहे के समीप स्थित एक किसान सेवा केंद्र पर ग्राहकों ने पेट्रोल पम्प से पानी निकलने की शिकायत की है। ग्राहकों का आरोप है कि गाड़ियों में पेट्रोल की जगह पानी डाल दिया जाता है जिससे गाड़ी बीच रास्ते में ही बंद हो जाती है और धक्का देकर दुकान तक ले जाया जाता है वहाँ टँकी खोलने पर पानी निकलता है। यह शिकायत ग्राहकों द्वारा बार-बार की मैनेजर से की जाती है परंतु पेट्रोल पंप संचालक पर इसका जरा भी असर नहीं पड़ता। स्थानीय निवासी एक ग्राहक ने बताया कि हमने ₹300 का पेट्रोल डलवाया और गाड़ी बीच रास्ते में ही बंद हो गई। मिस्त्री को दिखाया तो उसने बताया कि आपकी गाड़ी में पानी है जब इसकी शिकायत ग्राहक ने पेट्रोल पंप मैनेजर से की तो मैनेजर ने साफ जवाब दिया कि मेरे पेट्रोल में पानी नहीं है आप कही और से पेट्रोल लिए होंगे,मैनेजर ने बताया कि  डीजल में पानी की शिकायत  कुछ लोगो ने किया है  इसे मैं स्वीकार करता हूं ।इसी तरह क्षेत्र के कई ग्राहकों ने यह आरोप लगाया कि पेट्रोल/ डीजल डलवाने के बाद गाड़ियों से पानी निकाला जाता है जिससे गाड़ी के इंजन खराब होने का भी खतरा रहता है। स्थानीय लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि पेट्रोल पंप के मीटर रीडिंग में भी छेड़छाड़ की जाती है तो वही पंप कर्मियों तथा मैनेजर द्वारा मीटर रीडिंग द्वारा ही पेट्रोल डीजल लोगो को दिया जाता है, शिकायत करने पर ग्राहकों को यह बताया जाता है कि मशीन में मैनुअल सिस्टम नहीं है, वही तेल डालने वाले नोज में 3 स्टेप होते हैं जिसमें पहले स्टेप को घिश कर खराब कर दिया गया है तथा दूसरे और तीसरे स्टेप से तेज गति से पेट्रोल डीजल डालने की भी लोगों ने शिकायत की ।देश में बढ़ती पेट्रोल डीजल की कीमतो की वजह से जहां आम जनमानस का पेट्रोल डीजल खरीदना मुश्किल हो गया है वही पेट्रोल डीजल संचालकों द्वारा आपदा में अवसर की तलाश की जा रही है। शिकायत के बाद भी पेट्रोल संचालकों द्वारा अपने ग्राहकों को प्रतिदिन पेट्रोल डीजल के के नाम पर चूना लगाया जा रहा है।