राजेश सिंह

अतरौलिया। साइबर जागरूकता दिवस पर पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जनपद में साइबर जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया गया । गुरुवार को प्रभारी निरीक्षक अतरौलिया अयोध्या तिवारी के निर्देश पर सब इंस्पेक्टर सुल्तान सिंह तथा महिला पुलिसकर्मियों द्वारा क्षेत्र के रामनाथ धनंजय महिला पीजी कॉलेज जगदीशपुर, अतरौलिया में लड़कियों को साइबर अपराध से बचाव के लिए जागरूक किया गया। सब इंस्पेक्टर सुल्तान सिंह ने लड़कियों को जागरूक करते हुए बताया कि हम जितनी तेज़ी से डिजिटल दुनिया की ओर बढ़ रहे हैं, ठीक उतनी ही तेज़ी से साइबर अपराध की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। जिस गति से तकनीक ने उन्नति की है, उसी गति से मनुष्य की इंटरनेट पर निर्भरता भी बढ़ी है। एक ही जगह पर बैठकर इंटरनेट के ज़रिये मनुष्य की पहुँच, विश्व के हर कोने तक आसान हुई है। आज के समय में हर वो चीज़ जिसके विषय में इंसान सोच सकता है, उस तक उसकी पहुँच इंटरनेट के माध्यम से हो सकती है, जैसे कि सोशल नेटवर्किंग, ऑनलाइन शॉपिंग, डेटा स्टोर करना, गेमिंग, ऑनलाइन स्टडी, ऑनलाइन जॉब इत्यादि। आज के समय में इंटरनेट का उपयोग लगभग हर क्षेत्र में किया जाता है। इंटरनेट के विकास और इसके संबंधित लाभों के साथ साइबर अपराधों की अवधारणा भी विकसित हुई है। उन्होंने बताया कि आजकल साइबर अपराधी लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी करने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। एटीएम कार्ड आधार कार्ड और लाटरी जैसे प्रलोभन देकर लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं, और धोखाधड़ी कर बैंक से धनराशि भी निकाल ले रहे हैं। इस अपराध में महिलाएं भी शामिल है। उन्होंने कहा अनजान महिलाओं से इंटरनेट फेसबुक व्हाट्सएप मैसेंजर इंस्टाग्राम आदि पर दोस्ती करने से बचें।