ध्रुव सिंह
आजमगढ़ । दीदारगंज थानाध्यक्ष हीरेंद्र प्रताप सिंह मयहमराह उपनिरीक्षक धनराज सिंह पुलिस बल के साथ संदिग्ध व्यक्तियों व वांछित/ वारंटी अभियुक्त की तलाश में आमगांव चौराहे पर मौजूद थे कि मुखबिर से सूचना मिली कि दो व्यक्ति गौमांस लेकर पैदल आ रहे हैं जो आमगांव चकवा नहर पुलिया से ग्राम सुघरपुर की तरफ जाएंगे, मुखबिर की सूचना पर थानाध्यक्ष हमराह के साथ आमगांव चकवा नहर पुलिया के पास पहुंचे तो आमगांव की तरफ से दो व्यक्ति पैदल आते दिखाई दिए, दोनों व्यक्तियों ने पुलिस वालों को देखते ही लक्ष्य बनाकर जान मारने की नीयत से तमंचे से फायर कर दिया जिसमें पुलिसकर्मी बाल बाल बच गए तथा पुलिस बल द्वारा अदम्य साहस के साथ दोनों व्यक्तियों को पकड़ लिया गया। पकड़े गए व्यक्ति का नाम पता पूछा गया तो उन्होंने अपना नाम क्रमशः मोहम्मद अफ्सर पुत्र फारुख ग्राम मानीकलां थाना खेतासराय जौनपुर बताया जिसके पास से एक अदद अवैध तमंचा 12 बोर व एक अदद जिंदा कारतूस बरामद हुआ तथा दूसरे ने अपना नाम शादाब पुत्र दिलशाद निवासी अरंद थाना शाहगंज जौनपुर बताया, जिसके पास से एक प्लास्टिक के सफेद बोरी में 45 पॉलिथीन के पैकेट में कुल 45 किलो प्रतिबंधित मांस बरामद हुआ। पकड़े गए दोनों अभियुक्तों के द्वारा 2 माह पहले आमगांव बन का नहर पुलिया की पटरी पर 3 गोवंशों की हत्या की गई थी जिस के संबंध में दीदारगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। थानाध्यक्ष दीदारगंज हीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त मोहम्मद अफ्सर पुत्र फारुख के ऊपर दीदारगंज थाना सहित आजमगढ़ व जौनपुर जनपद के विभिन्न थानों में गैंगस्टर, हिस्ट्रीशीटर, लूट, आर्म्स एक्ट सहित 2 दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं, जिसे गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।