(बलिया) यूपी के बलिया जिला सहित सभी तहसील क्षेत्रों में खराब मोबाइल नेटवर्क से जनता इन दिनों आजीज आ चुकी है। हालात ये है कि फोन पर बात करते समय कई बार फोन कट जाता है।

सबसे ज्यादा परेशानी तो ग्रामीण क्षेत्रों में हैं, जहां बिजली कटने के बाद तो नेटवर्क मोबाइल का साथ पूरी तरह छोड़ देता है।
इससे परेशान ग्रामीण अब दूसरे कंपनी का कनेक्शन लेने के चक्कर में मजबूर हैं।
जनपद में इन दिनों मोबाइल उपभोक्ता खराब नेटवर्क की समस्या से जूझ रहे हैं। उपभोक्ताओं को बात करने के लिए कई बार काल लगानी पड़ रही है, जिससे उपभोक्ताओं में रोष पनप रहा है।
हालांकि सभी कम्पनियों का फोर जी वादा केवल विज्ञापनों तक ही सीमित दिख रहा है।
धरातल पर टू जी भी नहीं चल रहा है ।सबसे बुरा हाल तो बीएसएनएल के मोबाइल व लैंडलाइन का है। बीएसएनएल के मोबाइल पर काल करने पर उपभोक्ता पर काल संभव नहीं है। बताया जाता है उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा देने के लिए बीएसएनएल सहित अन्य कंपनियों द्वारा गावों सहित शहरों में बडे बडे टावर लगाया गया है, लेकिन आलम यह है कि नेटवर्क की समस्या से जूझ रहे उपभोक्ताओं का इससे सभी कम्पनियों से मोह भंग होता जा रहा है। उपभोक्ता अपने नंबर को अन्य प्राइवेट कंपनी में इधर से उधर ट्रांसफर करा रहे हैं। वहीं मोबाइल टावर को चलाने के लिए डीजल की आपूर्ति की जाती है। जिसे संचालकों द्वारा बाजारों में बेच दिया जाता है। टावरों का संचालन बिजली के सहारे रहता है, बिजली आपूर्ति नहीं होने पर नेटवर्क गायब रहने से उपभोक्ता, व्यापारी परेशान हैं।
हालांकि कुछ कम्पनियों ने तेल के खेल को देखते हुए सौर्य उर्जा प्लाट लगा रहा है वावजूद