बलिया।शहर के नजदीकी एक निजी होटल में जिले के दो भाई संतोष शर्मा व मंतोष शर्मा ने मिलकर लॉकडाउन के दौरान भारत सरकार की

आत्मनिर्भर योजना से प्रेरित होकर बलिया में ही हीरा इंजीनियरिंग वर्क्स कम्पनी की स्थापना की जो राज्यस्तरीय व विश्वस्तरीय कृषि यंत्र का निर्माण कर रहे है |ये सोच दोंनो भाई के मन मे तब आई जब इनको लगा,जो वस्तु किसान (कृषि यंत्र) बाहर से खरीद कर लाते है उसे हम यहाँ क्यों नहीं बना सकते और वही ये शुरुआत हुई। इन्होने अभी एक अलग-अलग प्रकार के यन्त्र बना रहे है जो किसानो के लिए उपयुक्त है और किसान इन यंत्रो से बहुत संतुस्ट व प्रभावित है। जो आसानी किफायती दर पर श्रेष्ठ स्तर की मशीने उपलब्ध है।संतोष शर्मा व मंतोष शर्मा दोनों भाईयों ने संस्था की संरचना किया और छोटे भाई मंतोष शर्मा पूरी व्यवस्था संचालित करते है।जनपद के 17- ब्लॉक व 6 तहसील के लगभग 944 गांवों में अब तक हजारों किसानो को किफायती दर पर छोटे-बड़े कृषि यंत्र उपलब्ध करा चुके है। दोनों भाइयो ने निश्चय किया है कि कम मुनाफे में ज्यादा किसानो को लाभ पहुचाना हैं। जब किसान आते थे तो बहुत सारी समस्या लेकर आते थे उस समय सोचते जरुर थे कि इनकी मदद कैसे की जाये।हीरा इंजीनियरिंग फर्म के ग्रुप द्वारा भारत सरकार के सभी योजनाओं को किसानो तक जानकारी पहुंचाने में मदद करके सफलता प्राप्त की है।आज हीरा इंजीनियरिंग वर्क्स के माध्यम से उसी विचार को सार्थक रूप प्रदान कर रहे है। इस दौरान आयुष केसरी ब्रांड अमेस्टर , संतोष शर्मा एमडी,संतोष शर्मा सीईओ,सत्येंद्र यादव संपूर्ण सहयोगी रहे मौजूद।