बलिया आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर “आजादी का अमृत महोत्सव के

उपलक्ष्य में राष्ट्रीय डाक सप्ताह के दौरान फिलेटली दिवस पर आजादी के अकीर्तित नायक श्री
चित्तू पाण्डेय शेर-ए-बलिया पर विशेष आवरण एवं विरूपण का विमोचन मुख्य अतिथि
उपेन्द्र तिवारी राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार, उ.प्र.सरकार,उनकी जन्म स्थली
ग्राम-रटटूचक (वैना) सागरपाली पर किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि आनंद स्वरूप
शुक्ल राज्य मंत्री उ.प्र. ,विनय कुमार पाण्डेय प्रपौत्र चित्तू पाण्डेय जी, महेन्द्र
यादव ग्राम प्रधान (वैना) उपस्थित रहें। भारतीय स्वत्रता संग्राम में अपना अहम योगदान देने वाले
श्री चित्तू पाण्डेय जी जिन्होनें भारत छोड़ो आन्दोलन में महत्वपूर्ण योगदान देकर बलिया जनपद की
ऐतिहासिक पृष्ठिभूमि में गौरवपूर्ण अध्याय जोड़ा। इस आजादी के जननायक को भारतीय डाक
विभाग द्वारा सम्मानित करते हुए उनके नाम पर विशेष आवरण एवं विरूपण का विमोचन किया
गया। कार्यक्रम में संजय त्रिपाठी अधीक्षक डाकधर द्वारा फिलेटली के महत्व को बताते
हुए डाक टिकट का संग्रह एवं अध्ययन से जनमानस को जोड़ने व अपनी राष्ट्रीय धरोहरों एवं
घटनाओं व आजादी की लड़ाई में अपना महत्वपूर्ण योगदान वाले महापुरूषो को स्मरण करने व
प्रोत्साहित करने का माध्यम है । इसके अलावा डाक टिकट संग्रह जानकारियों के प्रति अत्यन्त सूक्ष्म
और सकेद्रित ध्यान दे पाने की क्षमता उत्पन्न करता है। यह किसी देश एवं क्षेत्र के सांस्कृतिक,
आर्थिक, सामाजिक तथा प्राकृतिक विरासत को भी प्रतिबिबित करता है। उन्होने बताया कि कोई भी
साधारण जनमानस रू0 250/- भुगतान कर अपना फिलेटली एकाउन्ट बलिया प्रधान डाकघर में
खोलवा सकता है जिसमें भारतीय इतिहास संबंधित डाक टिकट खाता धारक को संग्रह हेतु उपलब्ध
कराया जायेगा। माई स्टैम्प योजना के तहत कोई भी साधारण व्यक्ति मात्र रू0 300/- में अपनी
फोटो डाक टिकट पर अंकित करा सकता है। यह सुविधा भी बलिया प्रधान डाकघर में उपलब्ध है।
कार्यक्रम में मारूत नन्द सहायक डाक अधीक्षक (मु०), पी.के. पाठक सहायक डाक
अधीक्षक रसडा, अंगद कुमार यादव निरीक्षक डाकधर उत्तरी, सर्वेश कुमार सिंह निरीक्षक
डाकधर पूर्वी बलिया,रवीन्द्र साह निरीक्षक डाकधर केन्द्रीय बलिया, संतोष कुमार सिंह
सागरपाली आदि उपस्थित रहें। कार्यक्रम की अध्यक्षता संजय त्रिपाठी अधीक्षक डाकघर
मण्डल एवं संचालन अजीत कुमार दुबे विपणन अधिकारी बलिया द्वारा किया गया ।