रिपोर्ट, अबुल फैज
(मुबारकपुर) आज़मगढ़ । सर सैय्यद अहमद डे के अवसर पर मुबारकपुर पब्लिक स्कूल का उद्घाटन आज़मगढ़ के पूर्व ज़िला अधिकारी और चैयरमेन भारतीय शिक्षा बोर्ड नागेंद्र प्रसाद सिंह ने फीता काट कर किया। स्कूल कैम्पस में डाक्टर शमीम अहमद अंसारी, निशा शमीम, सबा शमीम डायरेक्टर स्कूल आदि ने ज़ोरदार स्वागत किया। वहीं उद्घाटन समारोह की संचालन कर रहे आमिर फहीम ने नागेंद्र सिंह का परिचय कराते हुए कहा कि ऐसे नेक दिल इंसान बहुत कम मिलते हैं। इस अवसर पर आज़मगढ़ के पूर्व ज़िलाधिकारी और चैयरमेन भारतीय  शिक्षा बोर्ड नागेंद्र प्रसाद सिंह ने सम्बोधित करते हुए कहा कि उन्नीसवीं सदी में जब अंग्रेजों का पंजा कसता जा रहा था, उस दौर में जब कोई शिक्षा और प्रशिक्षण के बारे में बात कर रहा हो तो वो कितना महान रहा होगा। जब हम हर तरह से कमजोर रहे हों, लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए अंग्रेजों की कमियों को उजागर करना इस तरह की बेबाकी का काम सर सैयद जैसी महान शख्सियत ही कर सकती है। सर सैयद पर चारो तरफ से हमला होता था, जिस दौर में सिर्फ धार्मिक शिक्षा की बात हो, और उस दौर में दुनियावी तालीम की बात करे तो ज़ाहिर है कि उन पर हमले होंगे, जिसका शिकार सर सैय्यद अहमद भी हुए। डाक्टर शमीम अहमद अंसारी और डाक्टर सबा शमीम डायरेक्टर मुबारकपुर पब्लिक स्कूल ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर मुबारकपुर पब्लिक स्कूल की छात्रों ने तराना अलीगढ़ पेश किया, और समारोह का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया। इस अवसर पर प्रसिद्ध डाक्टर फुरकान अहमद, डाक्टर कमर जावेद, डाक्टर फरहान, रिज़वान अहमद सेठ, मौलाना इनामुर्रहमान, कारी शफीक अहमद, हाजी हशमतुल्ला, डॉ राना शमीम, डा. हुमा शमीम, डा. निसा शमीम, जाने आलम अलीग, अब्दुल्लाह अलाउद्दीन, इंतिखाबुर्रहमान अलीग, अदनान अलीग, कमाल अख्तर, डाक्टर महबूब आज़म सर्जन, जमाल अशरफ आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।