सुधीर अस्थाना
(मेहनगर) आजमगढ़। मेहनगर का ऐतिहासिक मेला नगर पंचायत मेहनगर, पुलिस और प्रशासन के सहयोग से सकुशल सम्पन्न हुआ। मेला क्षेत्र के चिन्हित 40 स्थानों पर महिला और पुरुष आरक्षियों की तैनाती की गई थी। एक प्लाटून पीएसी और होमगार्ड  सहित दो सौ पुलिस बल लगाए गए थे। साथ ही थाना कन्धरापुर, मुबारक पुर और मेहनगर पुलिस प्रभारी सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में संक्रमण करते रहे। रामलीला कमेटी द्वारा अलग पाण्डाल लगाया गया था, जहाँ से  समय – समय पर सुरक्षा व्यवस्था सम्बन्धी निर्देश  जारी किए जा रहे थे। महादेव घाट पर स्थित राम लक्ष्मण और हनुमान जी बैठे हुए थे, जहाँ भक्त गण पूजा अर्चना कर रहे थे। एक ओर दंगल का कार्यक्रम चल रहा था, जहाँ पहलवान जोर आजमाइस कर रहे थे। चहुँओर शोर शराबा मचा हुआ था। दूर-दूर से और स्थानीय व्यापारियों ने भी अपने स्टाल लगाए हुए थे। दूसरी ओर रावण का पुतला खड़ा किया गया था सायंकाल होने पर राम लक्ष्मण और हनुमान अपने शिविर से उठकर रावण से युद्ध किया और रावण को धराशायी कर दिया, इसी के साथ मेला संपन्न हो गया ।