पिन्टू सिंह 

(बलिया ) यूपी के बलिया जिले के सभी परिषदीय स्कूलों में आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 21 अक्टूबर को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयन्ती मनाने के लिए प्रार्थना सभा में कदम कदम बढाए जा,खुशी के गीत गाए जा ,ये जिन्दगी है कौम के कौम पे तू लुटाए जा,गाना बजाय जायेगा बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवनारायण सिह ने सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किया था कागजों पर।
मगर धरातल पर जब इसका रियालिटी चेक मे नहीं दिखाई पडा असर बानगी के रुप में रसड़ा शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय मन्दा पर फिर एकबार रसोईयों के हवाले परिषद स्कूल 9,20 पर स्वय पहुंची प्रधानाध्यापिका तो फिर कौन करायेगा प्रार्थना हालांकि बच्चों ने स्वय दुसरा प्रार्थना कर अपने अपने रुम मे बैठकर इंतजार कर रहे थे। यह स्कूल भगवान भरोसे ही चल रहा है संवाददाता ने जिम्मेदार बेसिक शिक्षा अधिकारी को फोन मिलाकर ध्यान आकृष्ट कराना चाहता था मगर हुजूर ने वाटसाप तो देख लिया मगर फोन उठाने की जहमत नहीं उठाया ।
दैनिक भास्कर न्यूज डाटकाम बार बार ध्यान आकृष्ट कराता रहता है इसके बावजूद भी जिम्मेदार अधिकारी अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन नहीं कर रहे हैं।
👉वही रसोइया महज 1500 रुपये में स्कूल की पूरी जिम्मेदारी को सुबह सात बजे से दोपहर तक निर्वाह करती है ।ऐसे रसोइया को दैनिक भास्कर न्यूज परिवार कोटि कोटि साधुवाद करता है ।
👉सबसे मजेदार बात तो यह है कि इस सरकार मे भी काफी ऐसे शिक्षक, शिक्षिका है महीने मे वेतन का कुछ भाग देकर आराम से उपस्थित रजिस्टर में दर्ज हो जाता है ।बानगी के तौर पर दो स्कूल पर काफी दिनों से सेटिंग चल रहा है सरकार बदलती है अधिकारी बदलते हैं मगर इन्हें कोई फर्फ नहीं पडता है।
आप जनता जनार्दन स्वय सोच सकते हैं जब भ्रष्ट अधिकारी हो तो शिक्षकों को हौसले बुलंद होगें