जनसुनवाई में 21 महिलाओं की समस्या सुनी

बलिया। राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला द्विवेदी ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में महिला जनसुनवाई व जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।साथ ही जनसुनवाई में महिलाओं की समस्याओं के निस्तारण के सम्बंध में चर्चा की।विभिन्न विभागों द्वारा सरकार के माध्यम से चलायी जा रही विभिन्न योजना तथा पोषण माह के बारे में विस्तृत जानकारी ली।सरकार की योजनाएं लाभार्थी को लाभ दिया जाय। उन्होंने महिला उत्पीड़न की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाएं जाने एवं पीडित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने के लिए अधिकारियों से बातचीत किया। महिलाओं का उत्पीड़न किसी भी दशा में बर्दाश्त नही किया जायेंगा। महिलाओं की सुरक्षा और संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार संकल्पबद्ध है। उक्त विचार महिला आयोग ने महिला उत्पीड़न की समस्याओं को सुनने के बाद अधिकारियों को सम्बोधित कर रही थी। उन्होने कहा कि पीड़ित महिला के आने पर उसकी समस्या को गम्भीरतापूर्वक सुना जाय तथा कानून की दायरे में हर सम्भव मदद किया जाय। जिसमें सरकारी योजनाओं वृद्धा पेंशन योजना,सामुहिक विवाह योजना, एसएसी/एसटी कमजोर वर्ग के लाभार्थियों को सहायता प्रदान करना, छात्रवृत्ति योजना, परिवारिक योजना, शादी अनुदान योजना, दिव्यांग पेंशन योजना, मुख्यमंत्री सुमंगला योजना, विधवा पेंशन योजना की समीक्षा की।
प्रभारी सीएमओ एसके तिवारी ने कहा कि जननी सुरक्षा योजना में 40029 गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण कराया गया है। जिसमें गर्भावती महिलाओं का समय-समय पर जांच किया जाता हैं साथ ही गर्भावती महिलाओं को तीन शिफ्टों में पांच हजार रुपये भुगतान किया जाता हैं। जननी सुरक्षा योजना में गर्भवती महिलाओं को 1400 रुपये दिया जाता है। साथ ही निःशुल्क परिवहन योजना में 108, 102 एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाती हैं।
प्रभारी सीएमओ को निर्देश दिए कि सरकार की सभी योजना लाभार्थियों को दिया जाय। उन्होंने ने सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि सरकार द्वारा चलाए जा रही विभिन्न योजनाओं को लाभार्थियों तक पहुचाया जाय,और इसमें लापरवाही नही होनी चाहिए तथा डाटा पूर्ण रखा जाय। मिशन शक्ति के अंतर्गत महिलाओं से संबंधित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बैनर/स्टाल में जिला समाज कल्याण विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, जिला पिछड़ा वर्ग विभाग,जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दीवानी न्यायालय के तत्वाधान में आजादी का अमृत महोत्सव एवं विभिन्न विभागों के स्टाल लगाये गये। साथ ही योजनाओं से सम्बंधित विभिन्न विभाग के स्टाल के बारे में विस्तृत जानकारी ली।
जनसुनवाई में महिलाओ की समस्या को बारी-बारी से सुनी। जिसमें शनिचरी देवी ने शिकायत की हमारे पति स्वास्थ्य विभाग में नौकरी करते थे वह रिटायर हो चुके है उनका पूरा भुगतान बकाया है। सीएमओ को निर्देश दिए की लंबित पड़ी भुगतान तत्काल कराया जाय। शाबना ने शारीरिक शोषण के संबंध में, प्रमिला देवी पीडब्ल्यूडी में नौकरी के सम्बंध में, कलावती देवी एवं अन्य महिलाओं ने शिकायत की। जनसुनवाई में 21 महिलाओं की समस्या सुनी। साथ ही आवेदन पत्र सभी विभाग के अधिकारियों को निस्तारण के लिए सौपा गया।
बैठक में जिला प्रोबेशन अधिकारी मो. मुमताज,जिला समाज कल्याण अधिकारी अभय कुमार सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी,प्रभारी सीएमओ एसके तिवारी,जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सपना पांडेय एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।