राजेश सिंह
आजमगढ़ । अतरौलिया में शारदीय नवरात्र का मेला पूर्णिमा को लगता है, जहां दूर-दूर से हजारों की संख्या में लोग मेला देखने आते हैं। मेले के दूसरे दिन मेला अपने पूरे शबाब पर था, रात्रि 11:00 बजे अतरौलिया थाना के एसआई सुल्तान सिंह अपने तीन चार हमरहियो के साथ मेला भ्रमण के दौरान मेले में लगे फुटपाथ के दुकानों तथा मेलार्थियों को मेले में से भागने लगे, जिससे मूर्ति समिति के लोगो में आक्रोश हो गया। बाजार की सभी मूर्ति समितियां एकत्रित होकर इसका पुरजोर विरोध कर जमकर हंगामा किये, हंगामे की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी गोपाल स्वरूप बाजपेई मेला पहुंचकर आक्रोशित दुर्गा पूजा समितियों को समझाने लगे।
दुर्गा पूजा समितियों द्वारा रात में ही पुलिस की कार्यशैली की शिकायत जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक से की गयी, सुल्तान सिंह द्वारा उठाए गए इस कदम से मूर्ति समितियो के लोग मूर्ति विसर्जन ना करने की चेतावनी देने लगे। लगभग रात 12:00 बजे क्षेत्राधिकारी बूढ़पुर गोपाल स्वरूप बाजपेई, प्रभारी निरीक्षक अतरौलिया राजेश कुमार सिंह सहित थाने के अन्य लोग मिलकर मूर्ति समितियों से बातचीत करके सुल्तान सिंह के कदम को निंदनीय बताते हुए मेला सुचारू रूप से चलाने का निवेदन किया । मूर्ति समितियों ने अपनी मांगों को रखते हुए बताया कि 1 दिन का मेला शेष है, जिसने नगर की महिलाएं तथा नगर के आसपास गांव की महिलाएं ही भ्रमण करती हैं, ऐसे में अगर पुलिस प्रशासन 11:00 बजे के बाद मेला बंद करवाता है तो मेले में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी। अधिकारियों ने इस पर लोगो को आश्वासन दिया कि मेला किसी भी तरह से बाधित नहीं किया जाएगा। मेले के तीसरे दिन भारी भीड़ होने की संभावना जताई जा रही है, तथा कल समयानुसार मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा । पुलिस के इस रवैया को देखते हुए मूर्ति समितियों ने अपने स्तर से मेला को सुचारू रूप से चलाने की तैयारी भी कर ली।