श्याम सिंह
(माहुल) आज़मगढ । स्थानीय कस्बे से तीन अक्टूबर को असलहे के बल पर अगवा किशोरी के अपहरणकर्ता पुलिस की पकड़ से दूर है। घटना के 20 दिन बाद भी कोई कार्यवाही न होने से परेशान किशोरी के पिता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर अहरौला पुलिस पर सवालिया निशान लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई है। ज्ञात हो कि माहुल कस्बे के वार्ड नं0 7 में तीन अक्टूबर को रात में साढ़े नौ बजे चारपहिया वाहन पर आए चार व्यक्तियों ने घर मे घुसकर असलहे के बल पर एक 15 वर्षीय किशोरी का अपहरण कर लिया। घटना के समय घर मे उक्त किशोरी की माँ ने जब विरोध किया तो उसे भी डराया धमकाया और किशोरी को लेकर फरार हो गए। घटना की सूचना जब रोजी रोटी के सिलसिले में मुंबई में रह रहे उसके पिता को मिल तो तत्काल वे जहाज से आकर अहरौला थाने में तहरीर दिया। काफी हीलाहवाली के बाद कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर के हस्तक्षेप के बाद पांच अक्टूबर को पुलिस ने माहुल कस्बा निवासी जाहिद खान पुत्र चुन्नू, शारिक पुत्र जाहिद खान, अफजल खान पुत्र अरशद व फुलपुर कोतवाली क्षेत्र के मकसुदिया गाँव निवासी माजिद पुत्र तबरेज के खिलाफ अभियोग पंजीकृत किया। अभियोग दर्ज होने के दूसरे दिन 6 अक्टूबर को सुबह 9 बजे नाटकीय ढंग से पुलिस ने बरामद भी कर लिया। उसके बाद उक्त किशोरी का चिकित्सीय परीक्षण के साथ ही न्यायालय मे प्रस्तुत कर बयान आदि भी दो दिन के अंदर करा कर किशोरी को उसके पिता को सुपुर्द कर दिया। उसके बाद से अभी तक चारो नामजद अपहरणकर्ता पुलिस की पकड़ से दूर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे गए शिकायती पत्र में किशोरी के पिता कामिल ने पुलिस पर अपहरणकर्ताओं को बचाने का आरोप लगाते हुये कहा कि नामजद अपहरणकर्ताओं ने मेरी पुत्री का अपहरण कर उसके साथ दुराचार किया। जिसकी पुष्टि चिकित्सकीय परीक्षण मे हो चुका है। उसके बाद भी पुलिस द्वारा विवेचना में धारा नही बढ़ाई जा रही है । और न ही किसी को पुलिस पकड़ ही रही। जिससे इनका मनोबल बढ़ा हुआ है, और आये दिन ये मेरे परिवार को जान माल की धमकी दे रहे। उन्होंने शिकायती पत्र में पुलिस की इस कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाते हुये अभियुक्तों से मिला होने का आरोप भी लगाया है, तथा मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से मुल्जिमानों को गिरफ्तार करने के साथ ही साथ न्याय की गुहार लगाई है। इस संबंध में इस मुकदमे के विवेचक उप निरीक्षक जावेद अख्तर का कहना है कि साक्ष्य संकलित किये जा रहे जल्दी ही अभियुक्त गिरफ्तार होकर सलाखों के अंदर होंगे।