पिन्टू सिंह

(बलिया) केंद्र व प्रदेश सरकार की लगातार स्वच्छता अभियान को गति दे रही है ताकि स्वस्थ समाज का सृजन हो सके किन्तु यूपी के बलिया जिले के रसड़ा ब्लाक क्षेत्र के अधिकाशतः गांवों में तैनात कर्मी गांवों की सफाई पर ध्यान नहीं देकर सिर्फ हाजिरी लगाने तक अपने दायित्वों को मान ले रहे हैं। अधिकांश गांवों में गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है। शासन-प्रशासन गांवों में सफाई के लिए करोड़ों रुपये प्रतिमाह खर्च कर रही है बावजूद इसके गांवों की सफाई व्यवस्था लगातार ध्वस्त होती जा रही है।
रसड़ा ब्लाक के छितौनी, जाम , अतरसुआं, खड़सरा, कोटवारी, मंदा, लबकरा, सरायभारती, रसूलपुर, अमहर पट्टी उत्तर, फिरोजपुर आदि गांवों में सफाई व्यवस्था बेपटरी होकर रह गई है।
सबसे चौकाने वाली बात तो यह है कि नवागत ग्राम प्रधानों के आग्रह के बावजूद सफाई कर्मी गांवों में समुचित सफाई पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। लापरवाह कर्मियों पर कार्रवाई नहीं होने के कारण गांवों में फैली गंदगी से संक्रामक रोगों का खतरा बढ़ गया है।
👉जिम्मेदार अधिकारी काश कुछ समय निकाल कर गावों मे धरातलीय निरीक्षण कर लेते तो पता चलता कि आखिरकार ऐसा क्यों कर रहे हैं।
👉 हालांकि पूरे मामले पर खण्ड विकास अधिकारी व ऐडियो पंचायत से पक्ष जानकारी करना चाहां मगर खराब नेटवर्क के चलते दोनों अधिकारी से सम्पर्क नहीं हो सका।