श्याम सिंह
माहुल(आज़मगढ)अहरौला थाना क्षेत्र के गुमकोठी गाँव मे बर्तमान व पूर्व प्रधान समर्थकों में आये दिन हो रही मारपीट की घटनाओं से गाँव मे अशांति ब्याप्त हो गई है। दोनो तरफ से एक दूसरे के खिलाफ गोलबंदी से पुलिस प्रशासन तक परेशान है। इसको भी देखते हुए पुलिस ने दोनों तरफ के 24 समर्थकों को शांति भंग की धाराओं में पाबंद किया है । गुमकोठी ग्राम सभा मे दिनेश यादव वर्तमान में प्रधान है। उन्होंने 10 वर्षो से प्रधान व क्षेत्र  पंचायत सदस्य रहे लाल बहादुर यादव को 118 वोटो से हरा कर चुनाव जीता है। घटना की शुरुआत 22 तारीख को रात आठ बजे हुई, पूर्व प्रधान लालबहादुर का पुत्र तीन अन्य साथियों के साथ सर्वेश पुत्र नरेंद्र को घर मे घुस कर मारा पीटा। पुलिस ने इस मामले में दूसरे दिन इन चारों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया। दूसरे दिन 23 अक्टूबर को सुबह 10 बजे गाँव के नवीन पाण्डेय पुत्र रामउग्रह को पूर्व प्रधान समर्थकों ने पहले तो फोन करके धमकी दी, उसके बाद वे घर से माहुल बाजार कोरोना  का टीका लगवाने जा रहे थे, उन्हें मारने के लिए दौड़ा लिया। नवीन ने भाग कर जान बचाई और थाने पर पहुच कर हमलावरो के खिलाफ तहरीर दिया। इसी तरह सोमवार को सुबह आठ बजे 60 वर्षीय बैजनाथ यादव व दिन में दो बजे बर्तमान प्रधान दिनेश यादव के भाई अर्धविच्छिप्त कमलेश यादव को शौच करते समय लाठी डंडे से मारपीट कर घायल कर दिया। उसी समय मौके पर माहुल चौकी की पुलिस पहुच गई जिसे देख हमलावर भाग गये। इस संबंध में चौकी प्रभारी माहुल विजय प्रकाश मौर्य का कहना है कि प्रधान व पूर्व प्रधान समर्थकों में आये दिन हो रही घटनाओं से अशांति फैल रही। जिसे देखते हुये गाँव मे गस्त बढ़ा दी गई है। दोनों पक्षो से 24 लोगो को शांति भंग की धाराओं में पाबंद किया गया है।