बलिया।अम्बिका पत्नी लक्ष्मण प्रसाद कुशवाहा ग्राम श्रीनगर थाना बैरिया निवासी ने अपने तीनों पुत्रियों सहित कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठी हैं। उन्होंने बताया कि अपने पति लक्ष्मण प्रसाद कुशवाहा आदर्श पूर्व माध्यमिक विद्यालय आदर्श नगर के अनवरत अध्यापक कार्य करने और उच्च न्यायालय इलाहाबाद 22.04.2009 का 9 प्रतिशत ब्याज सहित आदेश द्वारा वेतन भुगतान एवं उच्च अधिकारियों के आदेशों एवं निदेशों के बाद भी बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 27 वर्षों में केवल 10 माह का ही भुगतान किया गया है और मनमाने ढंग से बिना किसी आधार के वेतन अवरूद्ध रखा गया हैं। शिक्षक लक्ष्मण प्रसाद कुशवाहा अपनी नियमित अध्यापक कार्य करते हुए उच्च न्यायालय इलाहाबाद एवं उच्चाधिकारियों का चक्कर लगाते हुए। पूरी तरह से मानसिक एवं आर्थिक रूप से टूट चुके हैं। इसके साथ इसके परिवार में अम्बिका पत्नी शिवरात्रि देवी माता अदिति,आनन्दी, ईशा पुत्रीगण इनका पालन-पोषण मुस्किल हो गया हैं, जिसके कारण इनकी पत्नी अम्बिका,तीनों पुत्रियों सहित जीवन-मरण का सवाल लेकर के कलेक्ट्रेट में 21अक्टुबर से 24 अक्टूबर तक क्रमिक अन्शन 25 अक्टूबर से 26 अक्टूबर तक आमरण अन्शन और समस्या का समाधान न होने की स्थिति में 27 अक्टूबर को अम्बिका अपनी तीनों पुत्रियों के साथ आत्मदाह जैसे कड़े फैसले लेने के लिए विवश हैं।इनके धरने को शिक्षक नेता मो. मतिउर रहमान, संजय तिवारी बेसिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सत्य प्रकाश,मैनेजर वर्मा, जितेन्द्र पाल,शत्रुधन वर्मा,हंसराज,चन्दन यादव,आदित्य सिंह, रजत सिंह,राहुल यादव,उत्कर्ष राय,मोहन यादव, मोनू मिश्रा, राजू एवं अन्य लोग धरने को सम्बोधित करते हुए अपना सर्मथन व्यक्त किये।