चितबड़ागांव बलिया। बलिया बक्सर मुख्य मार्ग पर सोमवार को चितबड़ागांव मोड़ पर स्थित एक पान के दुकानदार के गले से सोने की चैन खींच कर उचक्के फरार हो गए। संजोग अच्छा था की चैन का टुकड़ा ही उचक्को के हाथ लगा, बाकी चैन युवक के गले में ही रह गई।
चितबड़ागांव मोड़ पर- चितबड़ागांव कस्बा निवासी गणेश चौरसिया 35 वर्ष पुत्र दीना चौरसिया की पान की दुकान है। सोमवार को सुबह लगभग 9:00 बजे जब वह अपनी दुकान में बैठा था उसी समय बाइक सवार दो युवक आए और उनसे सिगरेट मांगा जैसे उसने अपनी गर्दन पीछे की ओर घुमाई, उचक्के गले में लटक रही सोने की चैन को झटके से खींच कर बाइक से नरही की तरफ फरार हो गए। आगे जाकर जमुना राम मेमोरियल स्कूल के पास बाइक को फेंक दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस जब पीछा किया तो पुलिस को रोड पर पड़ी बाइक मिल गई लेकिन उचक्के फरार होने में सफल रहे। बाइक को पुलिस अपने कब्जे में लेकर थाने ले गई। थाना प्रभारी निरीक्षक निहार नंदन कुमार ने बताया कि बाइक पर नेम प्लेट बाहर की लगी हुई है जिस का पता लगाने कि हम कोशिश कर रहे हैं और उचक्को के हाथ चैन का टुकड़ा ही लगा है।