शैलेश सिंह

बैरिया (बलिया ) ।जो संगठित होते हैं उनको हर जगह सम्मान मिलता है और जो संगठित नहीं होते उनकी कहीं पूछ नहीं है । ‌जो वर्ग संगठित हो रहा है या तो वह राजसत्ता प्राप्त कर रहा है या उस वर्ग के नेता को कैबिनेट में स्थान या राज्यसभा का सांसद बना दिया जाता है। क्षत्रिय समाज संगठित न होने के कारण राजनीति, नौकरी, रोजी रोजगार सहित हर क्षेत्र में उसकी संख्या कम होती जा रही है। उक्त बातें क्षत्रिय भारत महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने मुरली छपरा ब्लाक के मठ योगेन्द्र गीरी चट्टी पर क्षत्रिय भारत महासभा की बैठक को संबोधित करते हुए कहा । उन्होंने कहा कि दृढ़ संकल्प के साथ प्रयास करने वाला व्यक्ति एवरेस्ट के पहाड़ पर चढ़ जाता है इसलिए साहस के साथ संगठन को मजबूत करने की जरूरत है। आज़ादी के बाद 546 रियसतों का विलय किया गया जिसमें 513 रियासतें क्षत्रिय समाज की थी ।उस समय सरकार ने वादा किया था कि क्षत्रिय समाज की मान सम्मान एवं जानमाल की सुरक्षा प्रदान की जाएगी लेकिन रियासतें विलय होने के बाद तत्काल सीलिंग लगाकर उनकी जमीनें ले ली गई। आरक्षण लगाकर रोजी रोजगार,राजनीति , सरकारी नौकरी आदि में सीमित कर दिया गया। हरिजन एक्ट लगाकर बेवजह फर्जी मुकदमों में फंसाया जा रहा है।फिल्मों में ठाकुर को विलेन दिखाकर उसके गौरवशाली इतिहास को कलंकित किया जा रहा है।अन्य वक्ताओं ने संगठन के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि जब तक हम संगठित नहीं होंगे हमारी कहीं पूछ नहीं होगी।कार्यक्रम के दौरान जय भवानी जय श्रीराम के नारे लगे। कार्यक्रम का अध्यक्षता दवा दयाल सिंह प्रधान प्रतिनिधि,संचालन प्रोफेसर सुबास सिंह ने किया इस कार्यक्रम के संयोजक बैरिया बिधान सभा के संरक्षक शिवनाथ सिंह रहे इस कार्यक्रम मे प्रमुख रूप से आनन्द प्रकाश सिंह प्रदेश महासचिव, जितेन्द्र सिंह (बिकास) मीडिया प्रभारी पूर्वांचल, अनिल कुमार सिंह जिला उपाध्यक्ष बलिया राहुल सिंह जिला युवा अध्यक्ष उपेंद्र सिंह गड़वार ब्लॉक अध्यक्ष अजय बहादुर सिंह जिला मंत्री रविंद्र सिंह दादू जिला महामंत्री कौशल सिंह जिला उपाध्यक्ष युवा राजीव सिंह महामंत्री दीपक सिंह महामंत्री सोहाव राज मंगल सिंह कोषाध्यक्ष सोहाव ब्लॉक सत्यदेव सिंह कमलाकांत सिंह पंदह ब्लॉक सर्व जीत सिंह उपाध्यक्ष सोहाव ब्लॉक वेद प्रकाश सिंह मीडिया प्रभारी बलिया अरविंद सिंह राजू सिंह देव नारायण सिंह अरुण सिंह रामजी सिंह शिवनाथ सिंह अजय सिंह मनोज सिंह हनी सिंह सुरेश सिंह रवि प्रकाश अखिलेश सिंह आदि लोग मौजूद रहे।