चितबड़ागांव बलिया। हिंदू आस्था का प्रतीक महापर्व छठ जो इस बार 10 नवंबर बुधवार को है, इसे लेकर चितबड़ागांव मुख्य सड़क एवं मुख्य बाजार में 5 नवंबर से ही फलों के प्रतिष्ठान लगने लगे हैं और 8 नवंबर सोमवार को लगभग डेढ़ सौ प्रतिष्ठान विभिन्न तरह के फलों एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों के लगाए गए हैं जबकि फुटपाथ पर भी सैकड़ों दुकानें लगी हुई है। ब्रती महिलाओं का कहना है कि सभी फलों की कीमतें बेशक बढ़ा दी गई है लेकिन यह हिंदुआगादह है लोग बिना खरीदे मानेंगे नहीं भले ही सब सामग्रियां मनमाने रेट से बेची जा रही है। अवकाश प्राप्त अध्यापक एवं चेतना जागरण समिति के अध्यक्ष विजय नारायण यादव ने बताया कि कोरोना काल के कारण बेरोजगारी कितनी बढ़ गई है कि अधिकांश बेरोजगार लोग ही दुकानें लगा कर बैठ गए हैं नहीं तो इतनी संख्या में दुकानें नहीं होती थी। 8 नवंबर सोमवार को 3:00 बजे फलों के रेट कुछ इस प्रकार रहे-
सेव ₹60-₹100, केला-₹50 दर्जन, अंगूर-₹160, मौसमी-₹70, संतरा-₹70, अनार-₹120-₹150, नारियल ₹50-₹90, माटी कटहल (अन्नास)-₹40-₹50, नॉट फल-₹220 किलो, कंद-₹40-₹50। गन्ना-₹30- ₹40 प्रति पीस इत्यादि।