राजेश सिंह

आजमगढ़ अतरौलिया में स्थित 100 सैया संयुक्त चिकित्सालय इन दिनों मरीजों के लिए वरदान साबित हो रहा है, जहां दवाओं से लेकर जांच तथा सभी संसाधन मौजूद है । वहीं अस्पताल इन दिनों अच्छे डॉक्टरों से सुसज्जित है । जहां लोग सुबह से ही डॉक्टर को दिखाने के लिए बेसब्री से इंतजार करते है, जिसका नतीजा है कि सफल इलाज द्वारा उन्हें लाभ भी प्राप्त हो रहा । ऐसे ही एक डॉक्टर है डॉ अमरेंद्र त्रिपाठी (जनरल फिजीशियन) जो निरंतर बिना छुट्टी लिए ही सुबह 8:00 बजे से मरीजों का इलाज करना शुरू कर देते हैं । यही नहीं जब तक पूरे मरीज देख नहीं लेते तब तक अपने कुर्सी से नहीं उठते । कारण है कि डॉ अमरेंद्र त्रिपाठी मृदुभाषी व सरल स्वभाव के होने के नाते मरीजों की काफी भीड़ इन्हें आसानी से दिखाना चाहती है। डॉ अमरेंद्र मरीजों की पूरी बात को ध्यान से सुनते है, पूरी परेशानियों को जानते है तब अपनी कलम से दवाइयां लिखते और अच्छी सलाह देते है। उन्होंने बताया कि 100 से अधिक लोगों को ओपीडी में प्रतिदिन देखते है। छुट्टियों के दिन थोड़ा कम भीड़ रहती है, नहीं तो 100 से अधिक लोगों का इलाज स्वयं करते है, तथा उन्हें अच्छा परामर्श भी देते है। मौसम के अनुकूल कौन सी बीमारियां लोगों को ज्यादा प्रभावित करेंगी, उन्हें सावधानियों के बारे में भी बताया जाता है। सर्दी के मौसम में खांसी बुखार जुकाम के मरीज अधिक आ रहे हैं, उन्हें कैसे बचना चाहिए, क्या पहनना चाहिए ,क्या उनके लिए उचित रहेगा, घर में क्या पहन कर काम करना चाहिए, व बाहर निकलने पर क्या पहने । सब जानकारियां मरीजों को डॉक्टर द्वारा दी जाती है।