बृजेश सिंह
अंबेडकरनगर । अखंडनगर /सुल्तानपुर मीरपुर प्रतापपुर की निवासी बबीता पत्नी प्रदीप राजभर उम्र 32 वर्ष की यूट्रस का ऑपरेशन कराने के लिए जलालपुर स्थित निजी हॉस्पिटल में माता के साथ  गई । आरोप है कि डॉ ने ऑपरेशन के बहाने बबीता के किडनी निकाल ली वह हालत बिगड़ने पर बबीता को मीरपुर प्रतापपुर स्थित ससुराल पर रात में ही अपने पर्सनल वाहन से पहुंचा कर बताया कि ऑपरेशन हुआ है दवा का असर है आराम हो जाएगा और वहां से फरार हो गए घर पहुंचने के 5 मिनट बाद ही बबीता की हालत काफी नाजुक हो गई घर वालों ने आनन-फानन में बबीता को अखंडनगर सीएससी ले गए जहां डॉक्टरों ने बबीता को मित्य घोषित कर दिया परिवार वालों ने अखंडनगर थाने में रिपोर्ट लिखाना चाहा मगर अखंडनगर थाना अध्यक्ष ने यह कहते हुए रिपोर्ट नहीं लिखी की पीएम मैं करा दे रहा हूं रिपोर्ट आप जलालपुर में दर्ज कराएं परिवार का रो रो कर बुरा हाल है एक छोटे से ऑपरेशन के लिए किडनी निकाल कर बेचने का व्यापार काफी दिनों से यह खेल चल रहा है मगर पैसे की हनक और प्रशासनिक पकड़ होने के नाते कोई कार्रवाई नहीं हो रही है कई बार अमन हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर  का नाम आने के बाद भी मामले को रफा-दफा कर दिया गया है इस घटना में भी हॉस्पिटल अपने पहुंचकर का जोर लगा रहा है प्रशासन को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है की नजदीकी जिले में मानव अंगों का  तस्करी बड़ी जोर जोर से हो रहा है मगर प्रशासन नींद में सो रहा है उत्तर प्रदेश सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है अन्यथा मरीजों  का शोषण ऐसे ही होता रहेगा।