पिन्टू सिंह

(बलिया) यूपी के बलिया जिले के रसड़ा तहसील क्षेत्र के कोड़रा गांव के समीप से गुजर रही टोंस नदी के किनारे डाला छठ पूजा हेतु वेदी बनाने आये किशोर सूर्यभान सिंह उम्र (15) वर्ष पुत्र गौतम सिंह निवासी गोसलपुर थाना करीमुद्दीनपुर जिला गाजीपुर की नदी में डूबे 30 घंटे बीत जाने के बाद भी गुरूवार की सायं तक उसका कोई सुराग नहीं लग सका। हालांकि प्रशासन व पुलिस के सहयोग से मछुवारे लगातार प्रयास करते रहे किंतु किशोर का कोई सुराग नहीं लगने से परिवार व क्षेत्र के ग्रामीणों में कोहराम मचा रहा।
किशोर का कोई सुराग नहीं लगने पर वहां मौजूद लोगों ने पुलिस प्रशासन के. खिलाफ नारेबाजी भी किया।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सूरझभान सिंह का गोसलपुर में घर है वह कोड़रा- गोसलपुर बार्डर पर टोंस नदी के तट पर दोस्तों संग छठ पूजा के लिए बेदी बनाने के लिए गया था और इस दौरान वह गहरे पानी में चला गया। प्रशासन सहित सैकड़ों लोगों ने किशोर का पता लगाने का काफी प्रयास किया किंतु उसका कोई सुराग नहीं लगने से परिजनों सहित ग्रामीणों में कोहराम मचा हुआ है।
बताते चलें कि काफी मन्नत व छठ पूजा व्रत के बाद एकलौता पुत्र की प्राप्ति हुई थी तभी से माँ शीला देवी माँ छठीं मईया का पूजन शुरू की थी 15 वर्षों बाद छठीं मईया ने कैसे छठ व्रत के दिन ही एकलौता बेटा को माँ से छीन लिया यह खबर सुन हर कोई विधाता को कोसते रहे।
वहीं माता शीला देवी का रो – रोकर बुरा हाल है।
बताते चलें कि लगातार प्रशासन द्वारा शव की बरामदगी के लिए प्रयास किया जाता रहा मगर 9दिन बाद लाश.फुलकर उपर तैर रही थी तभी मछुआरों ने शोर मचाया और तभी ग्रामीणों की भीड जुट गई।
सूचना पर पहुंची करीमुद्दीनपुर थाना ने शव का पिता से शिनाख्त कराने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा।