रिपोर्ट, मोहम्मद अकलेन
आजमगढ़ । असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) आजमगढ़ के जिलाध्यक्ष अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, जिलाध्यक्ष के अचानक इस्तीफा देने से ऐसा लग रहा है की पार्टी के अंदर सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है, वैसे जिलाध्यक्ष ने अपने इस्तीफा का कारण अपने को अस्वस्थ बताया है । जिलाध्यक्ष अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू ने अपने इस्तीफे में प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली से कहा है, कि मैं कुछ दिनों से सर्वाइकल प्रॉब्लम से अस्वस्थ चल रहा हूं, जिसके कारण में सक्रिय राजनीति में हिस्सा नहीं ले पा रहा हूं । लेकिन एक जिले के पदाधिकारी ने नाम न छापने की बात पर बताया कि जिले की यूनिट में कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ जरूर है, जिसके कारण जिलाध्यक्ष ने इस्तीफा दिया है । विदित हो कि अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू की पत्नी आजमगढ़ जिला पंचायत अध्यक्ष पद की पूर्व में चुनाव भी लड़ चुकी हैं । यही नहीं अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू का मुसलमानों की बैकवर्ड बिरादरी में अच्छी पकड़ है, ऐसे में अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू का इस्तीफा निश्चित ही इन बैकवर्ड बिरादरी कि मुसलमानों पर असर डाल सकता है, बता दें कि एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष रहे अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू ने विगत 3 सालों में पूरी निष्ठा व ईमानदारी के साथ जिला कार्यकारिणी व दशों विधानसभा अध्यक्ष, ब्लॉक अध्यक्षों से लेकर ग्राम अध्यक्ष तक का गठन किया है, जिला अध्यक्ष की कड़ी मेहनत का ही नतीजा रहा है, कि आज गांव से लेकर शहर तक AIMIM के पदाधिकारी व कार्यकर्ता दिखाई दे रहे हैं, और इसी का नतीजा है कि आजमगढ़ में पार्टी काफी बुलंदियों पर पहुंच चुकी है, और जिलाध्यक्ष अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू का विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अपने पद से इस्तीफा देना, पार्टी के कार्यकर्ताओं को हजम नहीं हो  रहा है । जिलाध्यक्ष के इस्तीफा देने से विधानसभा के चुनाव में निश्चित ही आजमगढ़ में इसका असर देखने को मिल सकता है । वही जिलाध्यक्ष अब्दुल रहमान अंसारी उर्फ पप्पू ने बताया कि मैंने प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली साहब को अपना इस्तीफा दे दिया है । पार्टी में कोई भी विद्रोह नहीं है, मैं कुछ अस्वस्थ होने के कारण इस्तीफा दिया हूं, इसको बगावत के रूप में न देखा जाए, मैं एक जिम्मेदार सदस्य के रूप में पार्टी के लिए हमेशा कार्य करता रहूंगा । वहींं जिलाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि जो भी जिले का अध्यक्ष बने उसके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने का कार्य सभी कार्यकर्ता करें ।