बैरिया।। संत सुदिष्ट बाबा के समाधि स्थल पर लगने वाले द्वाबा का ऐतिहासिक महत्व के सुदिष्ट बाबा का धनुष यज्ञ मेला आज ( आठ दिसंबर) से शुरू हो जाएगा इसके लिए कोटवां पंचायत सारी तैयारी पूरी कर ली गई है ।मेले को भव्य स्वरूप प्रदान करने के लिए कोटवा पंचायत के प्रधान प्रतिनिधि रोशन गुप्ता व पंचायत के सचिव जगनारायण यादव के साथ ही पंचायत के सदस्यों ने पूरी ताकत झोंक दी है।इस मेले का शुभारंभ आठ दिसम्बर को होगा जिसमें क्षेत्र भर के साधु संत व गणमान्य लोगों की उपस्थिति रहेगी ।

कोटवा पंचायत के प्रधान प्रतिनिधि रोशन गुप्ता ने बताया कि इस मेले का धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व होने के साथ साथ आर्थिक महत्व भी है मेले के भव्य स्वरूप देने के लिए कोई कोर कसर नही छोड़ा गया है यह मेला द्वाबा के गौरव का प्रतीक है यहाँ आने वालेलोगो को रोजगार मिलता है इस लिए यहाँ आने वाले लोगों को सुबिधा का पूरा रखा जाएगा ।पंचायत के सचिव जगनारायण यादव ने बताया कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की दिक्कत न हो इसके लिए मेला क्षेत्र में क्षेत्र में जगह जगह शौचालय, यूरिनल, के अलावा प्रकाश के लिए जनरेटर व स्वच्छ जल की व्यस्था की गई है।

इनसेट
संत सुदिष्ट बाबा के समाधि स्थल पर पंचमी के पूर्व संध्या पर कल्पवास की परंपरा सदियों से चला आ रहा है ।कल्पवास के लिए बाबा में श्रद्धा रखने वालो के अलावा साधु संत भी भारी संख्या में पहुँचते है ।कल्पवासी की दिनचर्या संध्या वंदन से शुरु होता है वे साधु सन्यासियों की सेवा जप व संकीर्तन आदि धार्मिक कृत्य करते हैं देर रात तक प्रवचन भजन कीर्तन जैसे आध्यात्मिक कार्यो के साथ समाप्त होती है ।कल्पवासी सुबह स्नान करने के पश्चात बाबा के चरणों में माथा टेकते है मान्यता है कि पंचमी के दिन जो सच्चे मन से बाबा के दरबार में माथा टेकते है उनके सारे मनोकामना पूर्ण होती है । पंचायत के प्रधान प्रतिनिधि रोशन गुप्ता ने बताया किइस साल भारी संख्या में कल्पवासियों के पहुँचने का अनुमान है उनके रहने खाने की निःशुल्क व्यस्था की गई है ।सर्दी होने के कारण कंबल रजाई के अलावा अलाव जलाने की भी व्यस्था की गई है ये सारी व्यस्था पंचायत द्वारा निःशुल्क किया जाता है ।