पिन्टू सिंह
(बलिया ) पूर्वांचल की पूर्वी छोर पर गंगा की गोद में बलिया के लाल सार्थक प्रकाश ने आईएमए देहरादून में जिला का झंडा बुलंद किया है ।
11 दिसंबर 2021 को  आईएमए देहरादून में पासिंग आउट परेड के बाद सार्थक प्रकाश  लेफ्टिनेंट के रूप में जब अपने माता पिता के पैरों पर नमन वंदन के लिये झुका तो परिजनों के चेहरों पर खुशी व प्रेम के बहते आंसुओ को साफ देखा जा सकता था ।
सार्थक प्रकाश ने केबल के व्यवसायी अपने पिता की झोली में वो खुशियां लाकर डाल दी जो इसके पिता स्वप्न में भी नही सोचे थे । इस अविस्मरणीय घड़ी को अपनी आंखों में कैद करने के लिये बलिया से सार्थक के पिता ओमप्रकाश सिंह उर्फ प्लेन सिंह,माता श्रीमती मंजू सिंह,बड़ी बहन श्रीजा सिंह,मामा धर्मेंद्र सिंह और मामी श्रीमती मनीषा सिंह आईएमए देहरादून के परेड ग्राउंड पर मौजूद रहे । अपनी इस सफलता का श्रेय सार्थक ने अपने माता पिता सहित गुरुजनों को दिया है
मूल रूप से बलिया जनपद के मझौवा निवासी 1986 से शहर बलिया के आनंद नगर नई बस्ती निवासी ओमप्रकाश सिंह उर्फ प्लेन सिंह, जो केबल टीवी के व्यवसायी है,का एकलौता पुत्र सार्थक प्रकाश अपनी पढ़ाई की शुरुआत से ही कुशाग्र बुद्धि का छात्र रहा है । एलकेजी से कक्षा 8 वी तक की पढ़ाई कैस्टरब्रिज स्कूल बसंतपुर बलिया में करने वाला सार्थक प्रकाश हमेशा 90 से 94 प्रतिशत के बीच अंकों से उत्तीर्ण होता रहा ।
अप्रैल 2013 में सार्थक प्रकाश ने अपने नाम को सार्थक करते हुए सैनिक स्कूल की प्रवेश परीक्षा को पास कर सैनिक स्कूल गोपालगंज बिहार में देश सेवा का जज़्बा लिये दाखिल हुआ । कड़ी मेहनत व परिश्रम के बल पर सार्थक ने मार्च 2017 में सैनिक स्कूल से पासआउट होकर देश सेवा के लिये एक कदम और आगे बढ़ गया । सार्थक के जीवन मे वो दिन भी आ गया जिसका सैनिक स्कूल में पढ़ने वाला प्रत्येक छात्र बेसब्री से इंतजार करता है । दिसंबर 2017 के एनडीए के घोषित परिणाम में सार्थक प्रकाश का चयन इसकी आकांक्षाओं को नये पर लगाने वाला साबित हुआ । पूरे परिवार में  सर्द मौसम में मानो फाल्गुन की बयार का खुमार छा गया और जिसे देखो चाहे वो परिजन हो या रिश्तेदार या शुभचिंतक एक दूसरे को बधाई देने लगे । 
मार्च 2017 से आईएमए देहरादून में देश की रक्षा के लिये प्रशिक्षण लेने वाले सार्थक प्रकाश के जीवन मे अंततः वो दिन भी आ ही गया, और 11 दिसंबर 2021 को आईएमए देहरादून में पासिंग आउट सेरेमनी के बाद सार्थक प्रकाश अपने परिजनों के सामने लेफ्टिनेंट के रूप में खड़ा था । सार्थक प्रकाश की इस सफलता में जहां पिता ओमप्रकाश उर्फ प्लेन सिंह (परा स्नातक),माता श्रीमती मंजू सिंह(स्नातक,गृहिणी) और बहन श्रीजा सिंह (असिस्टेंट मैनेजर एचडीएफसी बैंक गोरखपुर ) का अतुलनीय योगदान है, तो वही सैनिक स्कूल गोपालगंज के वाइस प्रिंसिपल व वर्तमान में आईएमए देहरादून में एजुकेशन कोर के प्रवक्ता सरदार इंद्रजीत सिंह का भी कम योगदान नही रहा है । इन्होंने गोपालगंज के बाद देहरादून में भी सार्थक को प्रोत्साहित करने का महत्वपूर्ण कार्य किया है ।

पोस्टिंगआर्टिलरी रेजिमेंट में मिली है पोस्टिंग
4 फरवरी 2000 को जन्मे सार्थक प्रकाश को आर्टिलरी रेजिमेंट की 324 फील्ड रेजिमेंट डिब्रूगढ़ में पोस्टिंग मिली है । आगामी 1 जनवरी 2022 से सार्थक देश सेवा की अपनी ड्यूटी की शुरुआत नासिक में ट्रेनिंग के साथ करेगा । बता दे कि आर्टिलरी रेजिमेंट में तीन कोर होते है -लाइट,फील्ड व मीडियम । अब देखना है कि अबतक पढ़ाई के दौरान बलिया का झंडा बुलंद करने वाला सार्थक प्रकाश देश सेवा के क्षेत्र में जनपद का कितना परचम लहराता है ।