👉पिन्टू सिंह

(बलिया) उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में तैनात शिक्षक के शैक्षिक प्रमाण पत्र पर करीब 15 सालों से नौकरी कर रहे प्रधानाध्यापक अखिलेश कुमार पांडेय को बीएसए ओपी यादव ने आखिरकार बर्खास्त कर दिया है। बताते चलें कि शिक्षा क्षेत्र धानी प्राथमिक विद्यालय कोइलाडाड़ के प्रधानाध्यापक के खिलाफ खंड शिक्षा अधिकारी को मुकदमा भी दर्ज कराने का निर्देश दिया है।
👉बीएसए ने बताया कि यूपी के बलिया जिले के शिक्षा क्षेत्र पंदह के प्राथमिक विद्यालय सकरपुरा में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात अखिलेश कुमार पांडेय ने 16 अक्टूबर 2021 को लिखित शिकायत किया था कि उनके नाम पर महराजगंज जिले के धानी शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय कोइलाडाड़ में अखिलेश कुमार पांडेय प्रधानाध्यापक पद पर फर्जी नौकरी कर रहा हैं। शिकायतकर्ता ने अपना व फर्जी प्रधानाध्यापक के मानव संपदा पोर्टल की आइडी भी जांच के लिए दिया था।
फर्जी व्यक्ति ने उनके अंक व प्रमाण पत्र को लगाकर विशिष्ट बीटीसी 2006 की भर्ती में अपना चयन करा लिया। नाम से केवल ‘पांडेय’ शब्द हटा दिया, जबकि उनका ही अंक व प्रमाण लगाया है। शिकायत पर विभाग ने जांच शुरू की तो आरोपित प्रधानाध्यापक नोटिस का डाक से जवाब देने के बाद फरार हो गया। बीएसए ने बताया कि तीन नोटिस के बाद प्राथमिक विद्यालय कोइलाडाड़ में तैनात प्रधानाध्यापक अखिलेश कुमार पांडेय को बर्खास्त कर दिया गया है।

👉बस्ती में हुई थी फर्जी नियुक्ति
बर्खास्त शिक्षक अखिलेश कुमार पांडेय ने फर्जी नाम व प्रमाण पत्र पर बस्ती जनपद के शिक्षा क्षेत्र गौर के प्राथमिक विद्यालय तरैनी में अपनी नियुक्ति कराई थी।