सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सगड़ी विधानसभा के संभावित उम्मीदवारों के साथ बैठकर बनाई आम सहमति 

रिपोर्ट, वरूण सिंह
समाजवादी पार्टी के विश्वस्त सूत्रों की माने तो आजमगढ़ जनपद की सगड़ी विधानसभा सीट पर आम सहमति बनाई गई है, सगड़ी विधानसभा सीट से अंबेडकरनगर जिले के अकबरपुर सीट से चुनाव लड़ते आ रहे पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा को उम्मीदवार बनाने की लगभग सहमति बन चुकी है । सपा मुखिया अखिलेश यादव के समक्ष मंगलवार को सगड़ी विधानसभा से गए, लगभग आधा दर्जन से ज्यादा नेताओं से सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने बात किया है, सपा मुखिया अखिलेश यादव से बात होने के बाद इन नेताओं ने भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए चुनाव लड़ने की इच्छा त्यागने के लिए सहर्ष तैयार हो चुके हैं । बता दें कि पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा समाजवादी पार्टी से अंबेडकरनगर के अकबरपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ते चले आ रहे हैं, पिछले चुनाव में बसपा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके राम अचल राजभर ने भाजपा लहर के बावजूद इस सीट से जीत हासिल किया था । बाद में बसपा मुखिया मायावती ने राम अचल राजभर को पार्टी से निलंबित कर दिया था, इसके बाद कुछ माह पूर्व राम अचल राजभर सपा में शामिल हो गए थे, राम अचल राजभर के सपा में आने के बाद से ही सपा उम्मीदवार के तौर पर अकबरपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का कयास लगाया जा रहा था । सपा मुखिया अखिलेश यादव ने दोनों नेताओं को अर्जेस्ट करने के लिए यह फैसला लिया है? पार्टी के विश्वस्त सूत्रों की माने तो कुर्मी जाति से ताल्लुकात रखने वाले पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा को सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सगड़ी से चुनाव लड़ना लगभग तय कर चुके हैं । सगड़ी विधानसभा के नेताओं को सपा मुखिया अखिलेश यादव ने मंगलवार को बुला कर कहा है कि आप सभी लोग क्षेत्र में जाकर सपा की नीतियों के बारे में जनता को बताएं, और साथ ही यह भी कहा कि जिसे उम्मीदवार बनाया जाए, उसे जिताने का कार्य करें 
सपा मुखिया ने इन नेताओं को था बुलाया
पूर्व विधायक अभय नारायण पटेल, विधानसभा चुनाव लड़ चुके जय राम सिंह पटेल, पूर्व फौजी उधम सिंह, ओम प्रकाश राय, रामाश्रय राय, प्रवीण राय, नारद पटेल, डॉक्टर एशियन पटेल प्रमुख रूप से बुलाए गए थे । विश्वस्त सूत्रों की माने तो पूर्व मंत्री राममूर्ति वर्मा का सगड़ी विधानसभा से चुनाव लड़ना लगभग तय हो चुका है ।